तीसरी लहर में नई आफत:बिहार के 590 डॉक्टर और 5,000 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित, ऐसी रफ्तार रही तो आगे इलाज मिलना मुश्किल

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार में मेडिकल सिस्टम पर पहली बार कोरोना की मार भारी पड़ रही है। तीसरी लहर में 30 दिसंबर से अब तक राज्य के 590 से अधिक डॉक्टरों और 5,000 से अधिक हेल्थ वर्करों को संक्रमित कर चुका है। पटना AIIMS, IGIMS से लेकर PMCH और NMCH में रोज डॉक्टर पॉजिटिव हो रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य सेवाओं पर असर पड़ रहा है। IMA का मानना है कि अगर हेल्थ वर्करों के संक्रमित होने की यही रफ्तार रही तो आगे मरीजों को इलाज मिलने में परेशानी हो सकती है।

पटना का नालंदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल।
पटना का नालंदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल।

NMCH में टूटा संक्रमण का रिकॉर्ड
नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (NMCH) में कोरोना संक्रमण का रिकॉर्ड टूट गया है। डॉक्टर और हेल्थ वर्करों के साथ डेटा ऑपरेटर और अन्य स्वास्थ्य कर्मी तेजी से कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। सूत्रों के अनुसार, अब तक 250 से अधिक डॉक्टर और अन्य स्टाफ कोरोना संक्रमित हुए हैं। इसमें सीनियर जूनियर डॉक्टरों से लेकर फैकल्टी मेंबर तक शामिल हैं। संक्रमण के कारण व्यवस्था बाधित हो गई है।

पटना का इंदिरा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस।
पटना का इंदिरा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस।

IGIMS में 100 से अधिक संक्रमित

इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में भी 100 से अधिक डॉक्टर और अन्य स्टाफ कोरोना संक्रमित हुए हैं। संक्रमण की रफ्तार हर दिन बढ़ रही है। गुरुवार को भी IGIMS में एक फैकल्टी, दो सीनियर रैजिडैंट, दो जूनियर रैजिडैंट और 5 नर्सिंग स्टाफ की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। प्रिंसिपल से लेकर डॉक्टर तक संक्रमित हुए हैं। IGIMS के चिकित्सा अधीक्षक डॉ मनीष मंडल ने बताया, 'संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ रही है और इसकी चपेट में डॉक्टर से लेकर अन्य कर्मी आ रहे हैं। संस्थान के डॉक्टरों और हेल्थ वर्करों के संक्रमित होने से व्यवस्था प्रभावित हो रही है।'

पटना एम्स का ओपीडी।
पटना एम्स का ओपीडी।

पटना AIIMS में 600 से अधिक संक्रमित
AIIMS में अब तक 600 से अधिक डॉक्टर और अन्य स्टाफ कोरोना संक्रमित हुए हैं। इसमें 13 कंसल्टेंट, 53 सीनियर रैजिडैंट, 101 जूनियर डॉक्टर, 20 इंटर्न, 303 नर्सिंग कैडर, 45 टेक्निकल स्टाफ, 24 सेक्रेट्रिएट स्टाफ, 23 अटेंडेंट और 15 हाउस कीपिंग स्टाफ कोरोना पॉजिटिव हुए हैं।

एम्स पटना के कोरोना नोडल डॉ संजीव कुमार का कहना है, '5 जनवरी से अब तक 607 डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। वहीं, बीते 24 घंटे में डॉक्टर सहित कुल 72 स्टाफ संक्रमित हुए हैं। गुरुवार को जिन 72 लाेगाें की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है उसमें दो फैकल्टी सहित 15 डॉक्टर शामिल हैं। 12 रैजिडैंट, एक इंटर्न और 37 नर्स भी शामिल हैं।'

प्राइवेट हॉस्पिटल में कम दिख रही कोरोना की मार
प्राइवेट हॉस्पिटल में कोरोना की मार सरकारी अस्पतालों की तरह नहीं दिख रही है। पटना के लगभग 90 हॉस्पिटल में कोरोना के इलाज की अनुमति दी गई है, लेकिन अभी तक यहां डॉक्टरों और स्टाफ के इतनी बड़ी संख्या में संक्रमित होने का मामला नहीं आया है। ऐसे में सरकारी अस्पतालों में छुट्‌टी को लेकर भी आदेश जारी कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें

CM की मौजूदगी में डॉक्टर भूले कोरोना गाइडलाइन

देश के 5000 डॉक्टर्स और हेल्थ वर्कर हुए थे शामिल; 25 राज्यों में बढ़ा कोरोना का खतरा