जातीय जनगणना पर सर्वदलीय बैठक 1 जून को:BJP ने बैठक में आने की रजामंदी दी, साफ हुई असमंजस की स्थिति

पटना3 महीने पहले
फाइल फोटो।

जातीय जनगणना को लेकर जो असमंजस की स्थिति बनी थी, वह अब साफ होने लगी है। जिस जातीय जनगणना में भाजपा के नहीं शामिल होने की खबर आ रही थी, अब पुष्टि हो गई है कि वो शामिल होगी। हालांकि अब जातीय जनगणना पर सर्वदलीय बैठक को 27 मई के बजाय 1 जून को रखा गया है। इस दिन सभी दलों के प्रतिनिधि सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शाम 4 बजे से बैठक करेंगे।

इस बात की पुष्टि जदयू के वरिष्ठ नेता और बिहार सरकार में शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने की है। विजय चौधरी ने कहा है कि 1 जून को जातीय जनगणना पर सर्वदलीय बैठक आयोजित होगी। इसमें सभी दलों के आने की सहमति मिल गई है। इस सर्वदलीय बैठक में भाजपा के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। विजय चौधरी ने साफ कहा कि अब जातीय जनगणना पर किसी भी दल में कोई मतभेद नहीं है। सभी दलों की रजामंदी मिल गई है। 1 जून को शाम 4 बजे CM संवाद कक्ष में इस मसले बैठक होगी।

बता दें कि जातीय जनगणना को लेकर सर्वदलीय बैठक कराने में बिहार सरकार को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसमें पहल की थी और उनकी इच्छा है कि बिहार में जातीय जनगणना हो। इसको लेकर सभी दलों के प्रतिनिधियों के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रधानमंत्री से मिल चुके हैं। हालांकि केंद्र सरकार की जातीय जनगणना कराने को लेकर कोई सहमति नहीं है। ऐसे में राज्य सरकार अपने खर्चे पर जातीय जनगणना कराएगी। अब माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में जो कैबिनेट की बैठक होगी, उसमें जातीय जनगणना को लेकर एजेंडा पास किया जाएगा।