पटना की CS के नाम पर डबल रजिस्ट्रेशन, होगा एक्शन:अपर मुख्य सचिव ने गंभीर अपराध मानते हुए कहा - होगी कार्रवाई, घटाया जाएगा डेटा

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पटना की सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह के नाम पर दो रजिस्ट्रेशन पर 5 डोज वैक्सीनेशन के मामले को दैनिक भास्कर ने एक्सपोज किया था। - Dainik Bhaskar
पटना की सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह के नाम पर दो रजिस्ट्रेशन पर 5 डोज वैक्सीनेशन के मामले को दैनिक भास्कर ने एक्सपोज किया था।

पटना की सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह के नाम पर दो रजिस्ट्रेशन और वैक्सीन की 5 डोज का मामला गंभीर हो गया है। स्वास्थ्य विभाग इसे गंभीर अपराध की श्रेणी में रखते हुए कार्रवाई की तैयारी में है। इस घटना की जड़ तक पहुंचने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने जांच कमेटी को लगाया है। जांच में दोषी पाए जाने वाले पर ऐसी कार्रवाई की जाएगी, जिससे भविष्य में ऐसे अपराध की पुनरावृत्ति नहीं हो।

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने 2 रजिस्ट्रेशन पर 5 वैक्सीनेशन के भास्कर के सवाल पर कहा है कि यह गंभीर अपराध है और इस पर कोई एक्सक्यूज नहीं है। क्योंकि ऐसे मामलों से सिस्टम प्रभावित होता है। हर संस्थान में कुछ ऐसे लोग होते हैं, जिससे गड़बड़ी होती है। ऐसे लोगों पर कार्रवाई की जाती है। दो रजिस्ट्रेशन पर 5 वैक्सीनेशन कैसे हुआ, इसकी जांच पड़ताल कराई जा रही है। स्वास्थ्यकर्मियों ने राज्य में दिन-रात एक कर बेहतर काम किया है, कुछ लोगों के कारण ऐसी घटनाएं हुई हैं।

28 जनवरी 2021 को वैक्सीन लेने के दौरान यह तस्वीर ली गई थी। इसमें पैन कार्ड रजिस्टर्ड है।
28 जनवरी 2021 को वैक्सीन लेने के दौरान यह तस्वीर ली गई थी। इसमें पैन कार्ड रजिस्टर्ड है।

फर्जी आंकड़ा हुआ तो वैक्सीनेशन का डेटा होगा कम
भास्कर के एक सवाल (अगर फर्जी डेटा दर्ज किया गया है और वैक्सीनेशन के आंकड़े गलत हुए तो क्या इसे राज्य के वैक्सीनेशन के आंकड़ों से कम किया जाएगा) के जवाब में अपर मुख्य सचिव ने कहा कि जांच में अगर गलत डेटा की एंट्री पाई गई, तो इसे राज्य के वैक्सीनेशन के डेटा से कम किया जाएगा। इस गंभीर अपराधिक मामले में डेटा ऑपरेटर से लेकर जो भी संलिप्त होगा, उस पर बड़ा एक्शन होगा, जिससे वैक्सीनेशन में फिर ऐसी गड़बड़ी करने की कोई हिम्मत नहीं जुटा पाए।

अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि जहां भी इस तरह की घटना होती है, बड़ा एक्शन लिया जाता है। हालांकि अब तक ऐसे किसी और मामले की जानकारी से उन्होंने इनकार किया है।

वैक्सीनेशन में फर्जीवाड़े के इस भास्कर एक्सपोज के बाद हड़कंप मच गया है।
वैक्सीनेशन में फर्जीवाड़े के इस भास्कर एक्सपोज के बाद हड़कंप मच गया है।

भास्कर ने एक्सपोज किया था मामला
पटना की सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह के नाम पर हुए दो रजिस्ट्रेशन पर 5 डोज वैक्सीनेशन के मामले को दैनिक भास्कर ने एक्सपोज किया था। वैक्सीनेशन में फर्जीवाड़े के इस गंभीर मामले के खुलासे के बाद हड़कंप मच गया। सिविल सर्जन डॉ विभा ने इस मामले में कहा कि उन्होंने दो रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है और न ही वैक्सीन की 5 डोज ली है। उन्होंने इसे फर्जीवाड़ा बताया और जांच की बात कही।

अब सवाल यह है कि अगर डेटा ऑपरेटर ऐसे ही गड़बड़ी कर रहे हैं, तो वैक्सीनेशन के डेटा में टेस्टिंग की तरह गड़बड़ी से इनकार नहीं किया जा सकता है। बिहार में टेस्टिंग में फर्जीवाड़ा के साथ अन्य राज्यों के सीएम व फिल्मी कलाकारों के नाम पर टेस्टिंग और वैक्सीनेशन का मामला चर्चा में रहा है। अब स्वास्थ्य विभाग में जिले के बड़े अफसर के नाम पर फर्जीवाड़े से बड़ा सवाल है।

खबरें और भी हैं...