पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बैठक:बिहार के नेताओं ने सोनिया से कहा- गरीब विरोधी मोदी सरकार को एक्सपोज किया जाए, आंदोलन का सुझाव

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहारी श्रमवीर बिहार से बाहर नहीं निकलेंगे, तो पूरे देश की अर्थव्यवस्था ठप हो जाएगी।
  • सोनिया गांधी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 22 विपक्षी दलों के साथ मीटिंग की, शामिल नहीं हो पाए मुकेश सहनी

बिहार के विपक्षी दल के नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को केंद्र की गरीब विरोधी मोदी सरकार को एक्सपोज करने के लिए बाकायदा आंदोलन की सलाह दी है। मौका, शुक्रवार को सोनिया गांधी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की गई 22 विपक्षी दलों के साथ मीटिंग का था। इस मीटिंग में बिहार से तेजस्वी यादव, हम के अध्यक्ष जीतनराम मांझी तथा रालोसपा के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा शामिल हुए। 
तेजस्वी ने कहा- सभी गरीबों को 6 महीने तक मुफ्त में अनाज और टैक्स नहीं देने वाले परिवारों को 8-8 हजार रुपए नकद मिले
प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहारी श्रमवीर बिहार से बाहर नहीं निकलेंगे, तो पूरे देश की अर्थव्यवस्था ठप हो जाएगी। बिहार में उद्योग धंधे लगाने ही होंगे। वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई 22 विपक्षी दलों की मीटिंग में बोल रहे थे। उन्होंने कहा- सभी गरीब परिवारों को 25-25 किलो चावल/आटा/दाल 6 महीने तक मुफ्त दिया जाए। प्रवासियों को लाने के लिए अधिक से अधिक ट्रेन चले। गैर आयकर वर्ग के सभी परिवारों को छह महीने तक आठ-आठ हजार रुपया नकद दिया जाए। उन्होंने कहा कि नोटबंदी की तरह कोरोना काल में भी केंद्र सरकार के सारे निर्णय गलत साबित हुए। बिहारी मजदूरों के साथ दुर्व्यवहार हुआ। हम सरकार पर ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन का दबाव बनाएं।
उपेंद्र कुशवाहा ने दिया सभी दलों के संयुक्त आंदोलन का सुझाव
रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने संयुक्त आंदोलन का सुझाव दिया। कहा- प्रवासी मजदूरों, किसानों सहित हर वर्ग के लोगों की समस्या दूर करने के लिए 31 मई या कोई और तिथि तक सरकार को समय दिया जाय। इसके बाद विरोध दर्ज कराया जाए। सोशल मीडिया, फेसबुक आदि से भी लोगों की समस्याओं को सामने लाया जाए। कोरोना संकट से बिहार के प्रवासी श्रमिक सबसे अधिक प्रभावित हैं। इनके रोजगार की व्यवस्था हो। किसानों को फसल के नुकसान का मुआवजा मिले। बच्चों की पढ़ाई सुनिश्चित हो। ऑनलाइन पढ़ाई में गरीब परिवार के बच्चे वंचित रह जाते हैं। 
मांझी ने कहा- किसान व मजदूरों के लिए अगल फंड बनाए सरकार 
पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा कि सरकार, किसान और मजदूरों को राहत पहुंचाने के लिए अलग फंड बनाए। सरकार, देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासियों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाने में विफल साबित हुई। ऐसे में विपक्षी दलों की जवाबदेही बनती है कि वह लोगों तक खाने का सामान पहुंचाएं और और संभव हो तो उनको उनके घरों तक लाने की व्यवस्था करें। केन्द्र सरकार द्वारा बिहार के लिए घोषित आर्थिक पैकेज के लिए हमें मिलकर संघर्ष करना होगा। वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी इस मीटिंग में शामिल नहीं हो पाए। उनका लिंक कनेक्ट नहीं हो पाया।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप धैर्य व विवेक का उपयोग करके किसी भी समस्या को सुलझाने में सक्षम रहेंगे। आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। परिवार के लोगों की छोटी-मोटी जरूरतों का ध्यान रखना आपको खुशी प्र...

और पढ़ें