पटना में 3 साल के मासूम को मार डाला:नाद में मिली लाश, हाथ-पैर और गर्दन रस्सी से बंधे थे; परिजन बोले- खेल-खेल में विवाद हुआ था

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमन कुमार की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
अमन कुमार की फाइल फोटो।

पटना के नौबतपुर के रुस्तमपुर गांव में 3 साल के मासूम को अपराधियों ने मार डाला। अपराधियों ने शव को छुपाने के लिए गांव के बीच में बनी पुरानी हवेली मकान के नाद में रस्सी से बांधकर फेंक दिया। सोमवार की देर रात पुलिस ने मासूम का शव बरामद किया तो इलाके में हड़कंप मच गया। आसपास के लोगों की भीड़ लग गई। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मृत बच्चे की पहचान रुस्तमपुर गांव निवासी नसीबन रविदास का 3 वर्ष का पुत्र अमन कुमार के रूप में हुई परिजनों ने बताया कि रविवार की दोपहर लगभग 3:00 बजे गांव का ही एक बच्चा बोतल कुमार रविवार को खेलने के लिए घर से बुलाकर ले गया था। उसके बाद से ही अमन लापता हो गया। अमन को खोजने की काफी प्रयास कोशिश की। लेकिन उसका कहीं कोई अता पता नहीं चला। इसके बाद परिजनों ने नौबतपुर थाने में अमन के अचानक लापता होने की सूचना दी।

नौबतपुर थाने की पुलिस बच्चे की खोज में निकल पड़ी। सोमवार की देर रात सूचना मिली की अमन का शव रुस्तमगंज गांव के एक पुरानी मकान में स्थित जानवर के खिलाने के नाद में हाथ पैर और गर्दन में रस्सी लगाकर बंधा से का हुआ था। घटना के बाद परिजन दंग रह गए।

अमन के पिता नसीबन रविदास ने आरोप लगाया है कि रुस्तम गंज गांव के मिट्ठू मांझी के बच्चों के बीच आपसी खेल-खेल को लेकर कुछ दिन पूर्व विवाद हुआ था। आशंका है कि बच्चों के खेल-खेल के विवाद को लेकर उन्हीं लोगों द्वारा मासूम अमन की हत्या गला घोंट कर कर दी गई है। पुलिस के अनुसार, हत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है। कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है। मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।