धू-धूकर जल उठी दुकानें:पटना में अगलगी में जलकर राख हुईं लगभग एक दर्जन दुकानें, लोग कर रहे मुआवजे की मांग

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जलकर राख हुईं दुकानें। - Dainik Bhaskar
जलकर राख हुईं दुकानें।

राजधानी पटना के गौरीचक थाना क्षेत्र के चौराहा के नजदीक रविवार देर रात अचानक आग लग गई। आग लगने की सूचना से दुकानदारों के बीच अफरातफरी मच गई। आननफानन में लोगों ने इसकी सूचना थाने को दी, जिसके बाद फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं। जब तक आग बुझ पाती तब तक 9 दुकानें जलकर राख हो गईं।

आग लगने के कारणों का खुलासा अभी तक नहीं हो सका है। स्थानीय नागरिक संजय कुमार ने बताया कि गौरीचक चौराहा के नजदीक कई सालों से वहां के गरीब परिवार के लोग फल-सब्जी, सैलून, अंडे की दुकान, मिठाई की दुकान सहित फास्ट फूड की छोटी-मोटी दुकानें चल रही हैं। इलाके के लोग इसी से परिवार का भरण-पोषण करते हैं। दुकानदारों में अर्जुन ठाकुर, रेणु देवी, कन्हैया कुमार, रवि कुमार, सनी कुमार, मंजू देवी, अनिल ठाकुर, सुनील ठाकुर और बुलकन ठाकुर की दुकानें शामिल हैं।

रेणु देवी ने बताया कि यहां के सभी दुकानदार छोटी-मोटी दुकान खोलकर बिजनेस करते हैं। बीती रात अगलगी ने उनका सारा बिजनेस चौपट हो गया। अब उनके सामने भूखमरी की स्थिति आ खड़ी हुई है। मंजू देवी ने बताया कि उनके पास जो कि थोड़ी सी पूंजी थी, जिससे वह बिजनेस व्यापार करके अपने परिवार का भरण-पोषण करते थे। अनिल ठाकुर ने बताया कि अगलगी की घटना के बाद जब पीड़ित लोग गौरीचक थाना में आवेदन देने गए तो उन्हें थाना से यह कह कर भगा दिया गया कि आप सभी लोग बाद में आए। अगलगी के शिकार लोगों ने बताया कि अगर सरकार द्वारा उन्हें मुआवजा मिलता है तो फिर से वे अपने बिजनेस व्यापार को खड़ा कर सकेंगे। इसके लिए उन्होंने संपतचक अंचलाधिकारी से आवेदन देकर राहत की मांग की है। इधर, गौरीचक प्रभारी ने बताया कि देर रात 12 बजे अगलगी की सूचना मिली थी। उन्होंने बताया कि आग लगने के कारण का खुलासा अभी तक नहीं हो सका है ।

खबरें और भी हैं...