महंगा पड़ा बिहार सरकार को चुना लगाना:बालू के खेल में शामिल अफसरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू, डेहरी के सस्पेंडेड SDM के पटना से लेकर UP के गाजीपुर वाले घर तक हुई छापेमारी

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बालू के खेल के कारण करोड़ों रुपए के राजस्व का नुकसान सरकार को हुआ है। - Dainik Bhaskar
बालू के खेल के कारण करोड़ों रुपए के राजस्व का नुकसान सरकार को हुआ है।

बिहार में बालू का खनन बन्द है। इसके बाद भी अवैध तरीके से बालू का खनन कई जगहों पर चल रहा है। इस अवैध खनन के खेल में 2 IPS समेत कुल 41 बड़े अधिकारी व अफसर इसकी जद में आये हैं। इन सभी को राज्य सरकार ने पोस्टिंग से रखा है। इनके जरिए करोड़ों रुपए के राजस्व का नुकसान सरकार को हुआ है। सरकार के नुकसान की खबर को भास्कर ने प्रमुखता के साथ छापा था। आज इस मामले में बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (EOU) की तरफ से पहली और बड़ी कार्रवाई की गई है।

डेहरी ऑन सोन सब डिवीजन के सस्पेंडेड SDM सुनील कुमार सिंह के तीन ठिकानों पर छापेमारी की गई है। एक टीम ने पटना वाले घर को खंगाला। दूसरी टीम ने पटना जिले के पालीगंज के इनके ठिकाने को खंगाला। सस्पेंडेड SDM की पत्नी यहां CDPO हैं। तीसरी टीम ने उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में स्थित इनके पुश्तैनी घर पर छापेमारी की। इस कार्रवाई में अब तक तीनों ही टीम के हाथ सुनील कुमार सिंह के भ्रष्टाचार में शामिल होने और आय से अधिक की संपत्ति अर्जित किए जाने के काफी सारे सबूत मिले हैं।

सरकारी नौकरी में आने के बाद इन्होंने काफी सारी जमीन, फ्लैट खरीदे हैं। करोड़ों रुपए की संपत्ति अवैध तरीके से अर्जित की है। दरअसल, सुनील कुमार सिंह के खिलाफ EOU ने 11 अगस्त को एक FIR 12/21 पटना में दर्ज की। इस FIR को धारा 13 (2), 13 (1) (B) भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम 1988 व संशोधित 2018 के तहत दर्ज की गई है। फिर कोर्ट से इनके सभी ठिकानों और घरों को खंगालने के लिए सर्च वारंट लिया। इसके बाद EOU के ADG नैयर हसनैन खान के निर्देश पर तीन स्पेशल टीम बनाई गई। हर एक टीम की कमान डीएसपी स्तर के अधिकारी के हाथ में थी। जबकि, खुद ADG पूरे कार्रवाई की मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

ADG के अनुसार, जब सुनील कुमार सिंह डेहरी में SDM थे तो उस दौरान उनकी सांठगांठ वहां के बालू माफिया, बिचौलिए, स्थानीय बाहुबली, आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के साथ थी। इस बात की पुष्टि लोकल इंटेलिजेंस इनपुट, टेक्निकल सर्विलांस और ह्यूमन इंटेलिजेंस के जरिए हुई। कार्रवाई करने से पहले EOU की तरफ से काफी सारे ठोस सबूत जुटा लिए गए थे। जिसके बाद आज कार्रवाई शुरू हुई। ADG के अनुसार सुनील कुमार सिंह के ठिकानों पर अभी भी टीम मौजूद है। छापेमारी की कार्रवाई अभी भी जारी है।

खबरें और भी हैं...