• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Bihar News; All Preparations To Harm JDU, The Symbol Of Gas Cylinder And Helicopter Can Be Received From The Election Commission Today

चाचा-भतीजे में बंटी LJP:चिराग पासवान की नई पार्टी का नाम LJP (रामविलास) और चुनाव चिह्न हेलिकॉप्टर; चाचा पारस की पार्टी RLJP और निशान सिलाई मशीन

पटना7 महीने पहले
चिराग पासवान की पार्टी के नाम से रामविलास जुड़ गया है, जिससे उन्हें चुनावी समर में पिता की विरासत के आधार पर वोट मांगने में मदद मिल सकती है।

चुनाव आयोग ने दो धड़ों में बंटी लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) मंगलवार को अलग-अलग पार्टी के तौर पर मंजूरी दे दी। उप चुनाव तक चिराग पासवान के नेतृत्व वाली पार्टी का नाम लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) होगा। पार्टी काे हेलिकॉप्टर चुनाव चिन्ह दिया गया है। वहीं, उनके चाचा और केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस की पार्टी का नाम राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (RLJP) होगा। RLJP का चुनाव चिन्ह सिलाई मशीन होगा।

चुनाव आयोग ने इस संबंध में लेटर जारी कर दिया है। इसके साथ ही दोनों गुटों के बीच पार्टी को लेकर दावे की लड़ाई अब खत्म होती दिख रही है। हालांकि, चिराग पासवान की पार्टी के नाम से रामविलास जुड़ गया है, जिससे उन्हें चुनावी समर में पिता की विरासत के आधार पर वोट मांगने में मदद मिल सकती है।

बता दें कि LJP के चुनाव चिह्न बंगला को चुनाव आयोग ने चाचा-भतीजा की लड़ाई में जब्त कर लिया है। अब उसका इस्तेमाल दोनों में से कोई नहीं कर सकता है।

चुनाव आयोग ने जारी किया लेटर।
चुनाव आयोग ने जारी किया लेटर।

बता दें कि रामविलास पासवान के निधन के बाद से ही उनके बेटे चिराग और उनके भाई पशुपति पारस के बीच विवाद उभर आए थे। लोजपा ने 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में NDA से अलग होकर चुनाव लड़ा था और एक ही सीट मिल पाई थी। इसके बाद पार्टी में मतभेद गहरे होते चले गए। पारस गुट ने चिराग को राष्ट्रीय अध्यक्ष और संसदीय दल के नेता के पद से हटा दिया था। तब से ही दोनों गुट पार्टी पर अपना-अपना दावा कर रहे थे। यह लड़ाई चुनाव आयोग तक भी पहुंची थी, जिसने अब यह फैसला दिया है।

उपचुनाव में उम्मीदवार उतारेंगे चिराग
चिराग की पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता असरफ अंसारी ने कहा- 'तारापुर और कुशेश्वरस्थान से उम्मीदवार उतारने के लिए चिराग पासवान की तरफ से चुनाव आयोग से नए चुनाव चिन्ह की मांग की गई थी। इन्होंने अपनी तरफ से गैस सिलेंडर, हेलिकॉप्टर और एक साथ खड़े तीन आदमी के प्रतीक चिन्ह को बतौर सिंबल देने की मांग की थी।

पारस की पार्टी का चुनाव चिन्ह बदला।
पारस की पार्टी का चुनाव चिन्ह बदला।

चिराग गुट के प्रदेश अध्यक्ष के अनुसार, आज शाम तक उम्मीदवारों के नाम की घोषणा होगी। कुशेश्वरस्थान और तारापुर सीट का उप चुनाव चिराग के उम्मीदवार अकेले लड़ेंगे। इनका मकसद हर हाल में जदयू और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नुकसान पहुंचाना है। चिराग गुट ने दोनों सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम को फाइनल कर दिया है। अधिकारिक घोषणा शाम तक की जाएगी।

वहीं, पारस गुट ने उप चुनाव में अपना समर्थन NDA के उम्मीदवार को दिया है।

खबरें और भी हैं...