पटना में चुनाव से पहले 2260 लीटर शराब बरामद:ड्राई स्टेट में शराबबंदी की पोल खुली, पटना सदर और फुलवारी में 15 को मतदान

पटना21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

बिहार के सरकारी सिस्टम पर सरकार की नकेल ढीली पड़ गई है। शराबबंदी कानून को लेकर जिस तरह से पहले जिम्मेदार अफसरों में दहशत थी वह अब नहीं दिखती है। शराब कांड भी इसी का परिणाम है। राजधानी पटना में जब जिम्मेदार सुस्त हैं तो बिहार के अन्य जिलों के हाल का अंदाजा लगाया जा सकता है। पटना सदर और फुलवारी में 15 नवंबर को पंचायत चुनाव है और अभी से शराब की तस्करी जोरो पर है। अब तक दोनों क्षेत्रों में 2260 लीटर शराब बरामद किया गया है। अब सवाल यह है कि जब अफसर चुस्त हैं जो शराब की खेप कहां से आ रही है।

जिम्मेदारों की ऐसी ही मनमानी से हो रही मौत

शराबबंदी कानून का पालन कराने वालों की मनमानी के कारण ही शराब कांड हो रहे हैं। गोपालगंज, बेतिया और समस्तीपुर में ऐसी ही चूक से शराब जहर बनी है। सिस्टम में खामी नहीं होती। अब तक 41 लोगों की मौत हो चुकी है। पंचायत चुनाव में पटना में हुई लापरवाही से भी शराब कांड हो सकता है। क्योंकि अफसरों की पूरी फौज और निगरानी के बाद भी शराब पर अंकुश नहीं लग रहा है। अब सवाल यह है कि जब शराब की खेप नहीं आ रही है तो बरामद कहां से हो रही है। सख्ती तस्करों पर लगाने को लेकर थी लेकिन इसके बाद भी गांवों में शराब पहुंच रही है।

चुनाव की तैयारी में खुल रही शराबबंदी की पोल

15 नवंबर को फुलवारी शरीफ और पटना सदर प्रखंड के पंचायत में पंचायत चुनाव है। इसकी तैयारी में जब प्रशासन सख्त हुआ तो शराबबंदी की पोल खुल रही है। प्रशासन के मुताबिक तैयारी के दौरान शराबबंदी कानून को लेकर 2260 लीटर शराब जब्त किया गया है। विभिन्न मामलों में 59 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अब तक 348 शस्त्र का सत्यापन कराया गया है और 98 शस्त्र जमा कराए गए हैं। फुलवारी शरीफ में कुल मतदान केंद्र की संख्या 254 और चलंत मतदान केंद्र 24 हैं। कुल मतदान भवनों की संख्या 157 है। 5 मतदान केंद्रों पर लाइव वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है तथा उसे आदर्श मतदान केंद्र के रूप में चयन किया गया है। पटना सदर प्रखंड में 7 पंचायत है और कुल मतदान केंद्र की संख्या 113 है, चलंत मतदान केंद्र 4 है। मतदान केंद्र भवनों की संख्या 72 है। क्लस्टर सेंटर की संख्या 7 है। सेक्टर पदाधिकारी की संख्या 14, पीसीसीपी की संख्या 72 के अतिरिक्त सुपर सेक्टर, जोनल एवं सुपर जोनल दंडाधिकारी की तैनाती की गई है।

चुनाव को लेकर कार्रवाई जारी

पटना प्रशासन का कहना है कि पंचायत चुनाव को लेकर कार्रवाई जारी है। अब तक 107/ 116 के तहत 1010 व्यक्तियों के विरुद्ध निरोधात्मक कार्रवाई की गई है। सीसीए में 5 आदेश जारी कराए गए हैं। शराबबंदी अभियान को लेकर 14735 लीटर अवैध शराब की जब्ती की गई है । 146 शास्त्र का सत्यापन कराया गया है। 4 आदर्श मतदान केंद्र से लाइव बेवकास्टिंग की व्यवस्था की गई है। दोनों प्रखंडों मे 15 नवंबर को सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान होगा। फुलवारीशरीफ प्रखंड अंतर्गत 17 पंचायत है। प्रत्येक पंचायत को सेक्टर में विभक्त किया गया है तथा प्रत्येक सेक्टर में दो पदाधिकारी की तैनाती की गई है। इस प्रकार मसौढ़ी में 17 सेक्टर, 34 सेक्टर पदाधिकारी, पीसीसीपी की संख्या 131 के अतिरिक्त सुपर सेक्टर दंडाधिकारी ,जोनल दंडाधिकारी एवं सुपर जोनल दंडाधिकारी की तैनाती की गई है। 107 /116 की निरोधात्मक कार्रवाई 2243 व्यक्तियों के विरुद्ध की गई है तथा सीसीए का आदेश 6 व्यक्तियों के विरुद्ध लगाया गया है।

खबरें और भी हैं...