बिहार में 30 दिन आगे बढ़ सकती है ठंड:पिछले साल की तुलना में अब तक सर्दी कम, दिसंबर में बढ़ जाएगी ठंड

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नवंबर 2020 में 9.4 डिग्री पहुंच गया था न्यूनतम तापमान, इस बार 14 डिग्री पहुंचा रात का पारा। - Dainik Bhaskar
नवंबर 2020 में 9.4 डिग्री पहुंच गया था न्यूनतम तापमान, इस बार 14 डिग्री पहुंचा रात का पारा।

आगे आने वाले दिनों में ठंड का प्रभाव और भी बढ़ेगा। दिसंबर में ही कई जिलों के शीतलहर की चपेट में आने का भी अनुमान है। ठंडी व बर्फीली हवाएं पहाड़ी क्षेत्र से होते हुए मैदानी हिस्सों में पहुंचेगी, जिससे गलन के साथ ठंड बढ़ जाएगी। मौसम विभाग के मुताबिक, दिसंबर माह के प्रथम सप्ताह में बिहार में ठंड काफी बढ़ जाएगी। हालांकि, अभी तक बिहार ठंड के मामले में 2020 से काफी पीछे चल रहा है। 2020 में ठंड ने 12 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया था। नवंबर माह के अंतिम सप्ताह में पटना में रात का तापमान 9.4 डिग्री पहुंच गया था, लेकिन 2021 में अब तक पारा 14 डिग्री से नीचे नहीं आया है। ऐसे में ठंड का स्केल 30 दिन आगे बढ़ सकता है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि इस बार मानसून की सक्रियता रही है इस कारण से ठंड अधिक और लंबे स्केल वाली होगी। लेकिन नवंबर 2020 से तुलना करे तो ठंड अभी काफी पीछे है।

2008 में 9.5 तक पहुंचा था पारा

नवंबर माह में ठंड की तुलना करें तो वर्ष 2008 में इस माह में पटना का पारा 9.5 डिग्री पहुंचा था और वर्ष 2020 में इसका रिकॉर्ड टूट गया था। वर्ष 2020 के नवंबर माह में पटना का तापमान 9.4 डिग्री से भी नीचे पहुंच गया था। 2021 में न्यूनतम तापमान 21 नवंबर तक 14 से नीचे नहीं आ पाया है। मौसम विभाग का कहना है कि नवंबर माह में ही पारा काफी नीचे आएगा जिससे ठड अपना असर दिखाएगी। 20 नवंबर 2020 को गया का तापमान सबसे कम 7.4 पहुंच गया था, लेकिन 2021 में गया का तापमान भी 10 के नीचे नहीं आया है।

कोहरे के साथ हो रही सुबह

मौसम विभाग के मुताबिक, अरब सागर में लगातार छठवें दिन भी निम्न हवा के दबाव का क्षेत्र बना हुआ है, जिससे बादलों का विस्तार बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश होते हुए पश्चिम बंगाल तक जा रहा है। इस मौासमी कारक के प्रभाव से पटना, गया, बेगूसराय सहित बिहार के अधिकांश हिस्से में आसमान पर आंशिक बादल छाए रह रहे हैं। इसके प्रभाव से धूप निकलने के बाद भी उसकी तीव्रता कम रह रही है। मौसम विभाग के मुताबिक 48 घंटे के दौरान रात में हवा की सुस्त रफ्तार और आसमान पर छाए बादलों की वजह से न्यूनतम तापमान में हल्की वृद्धि होगी। हालांकि, दिन में हवा और बादलों की वजह से तापमान में गिरावट होने का अनुमान है। इस दौरान सुबह की शुरुआत कोहरे के साथ होगी।

बिहार में बादल, देश के दक्षिण हिस्से में बारिश

अरब सागर में निम्न हवा के दबाव के बादलों का विस्तार बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल के साथ ही मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु, राजस्थान तक है। लेकिन, बारिश के सिस्टम की तीव्रता बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश की जगह तमिलनाडु, राजस्थान, छत्तीसगढ़ तक बना हुआ है। जिसकी वजह से पटना, गया में जहां आसमान पर बादल है, वही पर छत्तीसगढ़, राजस्थान, तमिलनाडु सहित देश के दक्षिण हिस्से में बारिश हो रही है। हालांकि, मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक 25 नवंबर तक बारिश का अनुमान है। उसके बाद तापमान में गिरावट होगी।