बिहार में डॉक्टर और मेडिकल स्टॉफ की छुट्टी कैंसिल:ओमिक्रॉन के खतरे को लेकर स्वास्थ्य विभाग का आदेश; विरोध में PMCH के हेल्थ वर्करों का हंगामा

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोमवार को PMCH में अधीक्षक कार्यालय पहुंचे हेल्थ वर्कर। - Dainik Bhaskar
सोमवार को PMCH में अधीक्षक कार्यालय पहुंचे हेल्थ वर्कर।

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने डॉक्टरों के साथ सभी मेडिकल स्टॉफ की छुट्‌टी कैंसिल कर दी है। इस आदेश के बाद अब अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में हंगामा मच गया है। एक तरफ सरकार कोरोना के खतरे को लेकर व्यवस्था बनाने में जुटी है तो दूसरी तरफ हेल्थ वर्कर मनमानी का आरोप लगाकर संस्थान से दो-दो हाथ करने को तैयार हैं।

पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में भी हेल्थ वर्करों में आक्रोश है और वह इसे लेकर लगातार हंगामा कर रहे हैं। हेल्थ वर्करों का कहना है कि अभी बिहार में नए वैरिएंट के संक्रमित नहीं है, इसके बाद भी संस्थान तानाशाही कर रही है।

स्वास्थ्य विभाग ने किया अलर्ट

स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर बिहार के सभी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के साथ अस्पतालों को अलर्ट किया है। आदेश जारी कर डॉक्टर से लेकर मेडिकल स्टॉफ तक की छुट्‌टी कैंसिल करने को कहा है। देश में जिस तरह से ओमिक्रॉन के मामले बढ़ रहे हैं, इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि आने वाले दिनों में कभी भी इमरजेंसी व्यवस्था लागू करनी पड़ सकती है।

इस आदेश को लेकर मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल में नोटिस लगाई जा रही है, जिसमें छुट्‌टी कैंसिल करने का आदेश दिया जा रहा है। इस नोटिस के बाद हेल्थ वर्करों का आक्रोश बढ़ रहा है और वह बवाल कर रहे हैं।

PMCH में अधीक्षक कार्यालय के बाहर मेडिकल स्टाफ।
PMCH में अधीक्षक कार्यालय के बाहर मेडिकल स्टाफ।

PMCH में आक्रोशित हेल्थ वर्करों ने मचाया बवाल

पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में हेल्थ वर्करों ने नोटिस लगाते ही बवाल मचा दिया। हेल्थ वर्करों ने इसे संस्थान के अधीक्षक की तानाशाही बताते हुए कहा, 'अभी ऐसी कोई स्थिति नहीं है कि छुट्‌टी कैंसिल कर दी जाए, लेकिन मनमानी की जा रही है।'

अधीक्षक कार्यालय से जो नोटिस जारी की गई है उसमें लिखा है कि ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल को अलर्ट पर रखा गया है। इस आलोक में इस संस्थान के सभी डॉक्टरों, पारा मेडिकल कर्मियों, नर्सेज एवं अन्य कर्मियों के किसी भी तरह के अवकाश पर रोक लगा दी गई है। किसी भी कर्मी को विशेष परिस्थिति में आंकलन करने के बाद ही छुट्‌टी दी जाएगी। छुट्‌टी के लिए अधीक्षक को अधिकृत किया गया है। इस नोटिस के बाद ही बवाल मचा है।

खबरें और भी हैं...