पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रिटायर्ड बैंक मैनेजर की हत्या केस:बेटे के बयान बदलने से उलझन में पुलिस, प्रोफेशनल शूटर के वारदात करने की आशंका; 48 घंटे बाद भी ड्राइवर को होश नहीं आया

पटना6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैंक मैनेजर की कार में ही गोली मारकर हत्या की गई थी। - Dainik Bhaskar
बैंक मैनेजर की कार में ही गोली मारकर हत्या की गई थी।

फतुहा फोरलेन पर कार से बिहारशरीफ से पटना आ रहे रिटायर्ड बैंक मैनेजर शैलेंद्र कुमार की हत्या सुपारी किलर ने की है। आशंका है कि मोटी रकम देकर उनकी हत्या कराई गई। पुलिस का शक बैंक मैनेजर के करीबी लोगों पर हैं। हत्या के बाद बाइक सवार अपराधी बिहाशरीफ की ओर फरार हुए। इससे यह पता चल रहा है कि हत्या करने वाले बिहारशरीफ या आसपास के ही हैं।

शनिवार की सुबह में हुए रिटायर्ड बैंक मैनेजर शैलेंद्र कुमार की हत्या मामले में पटना पुलिस के हाथ अब तक कोई ठोस सबूत नहीं लगे हैं। हत्या के पीछे की वजह साफ नहीं हो पाई है। इस मामले की पड़ताल करने और हत्या के पीछे की वजह जानने के लिए फतुहा थाना की पुलिस टीम रविवार को बिहार शरीफ गई थी। थानेदार मनोज कुमार सिंह खुद गए थे। रिटायर्ड मैनेजर के घर में मौजूद उनकी पत्नी और बड़े बेटे से पुलिस ने पूछताछ की।

पत्नी ने पुलिस से कहा कि उनके पति का किसी से कोई विवाद नहीं था। जबकि, बड़े बेटे ने पुलिस को बताया था कि शनिवार को वो जमीन की रजिस्ट्री कराने के लिए गए थे। मामला उससे जुड़ा भी हो सकता है। लेकिन, पुलिस का दावा है कि शैलेंद्र कुमार का बड़ा बेटा अपने ही दिए गए बयान से पलट गया। जांच कर रही पुलिस टीम उलझन में पड़ गई है।

पुलिस सोर्स के अनुसार, परिवार सही तरीके से टीम का सहयोग नहीं कर रहा है। बावजूद इसके पुलिस टीम अपने स्तर से वारदात के पीछे की वजह जानने के लिए मामले की तह तक पड़ताल करने में जुटी हुई है। पुलिस के सामने दूसरी बड़ी उलझन ये है कि शैलेंद्र कुमार को कार से लेकर पटना आ रहे ड्राइवर की हालत गंभीर है। उनका इलाज अभी भी पटना के हॉस्पिटल में चल रहा है। मगर, वह लगातार बेहोश है। इस वजह से उसका बयान अब तक पुलिस की टीम नहीं ले पाई है। ड्राइवर का बयान पुलिस के लिए इस केस में काफी मायने रखता है।

कार को बाइक से ओवरटेक कर रिटायर्ड मैनेजर और ड्राइवर को गोली मारने वाले अपराधी कौन थे? उनकी पहचान भी नहीं हो पाई है। यहां पर एक बात तो स्पष्ट हो गई है कि जिस हिसाब से हत्या की इस वारदात को अंजाम दिया गया है, वो काम सुपारी किलर का ही हो सकता है। हत्या के लिए जरूर किसी ने मोटी रकम देकर प्रोफेशनल किलर को हायर किया होगा। पटना के ग्रामीण SP कांतेश मिश्रा के अनुसार इस केस में अब तक कोई खास डेवलपमेंट नहीं हुआ है।

खबरें और भी हैं...