मीटिंग में जाने की बात कहकर निकली थी रिमझिम:पार्लर की स्टाफ ने किया खुलासा, वारदात स्थल पर नहीं मिला आईफोन और स्मार्ट फोन

पटना13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पटना में रहने वाली गाजीपुर के डॉक्टर की पत्नी रिमझिम चतुर्वेदी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। दैनिक भास्कर की पड़ताल में एक बड़ी बात सामने आई है। रिमझिम के पार्लर में लंबे वक्त से काम कर रही स्टाफ छोटी के अनुसार मंगलवार की शाम 4 बजे के करीब उनके मोबाइल पर एक कॉल आया था। इसके बाद ही रिमझिम ने कहा कि वो एक मीटिंग के लिए जा रही है। लेकिन कहां जा रही है, इसके बारे में कुछ बोला नहीं।

उनके मोबाइल पर कॉल किसने किया था? इस बारे में भी उसे पता नहीं। दैनिक भास्कर से बातचीत में छोटी बताती हैं कि मैडम को कोरोना हो गया था। उसके बाद से उन्होंने पार्लर में आना-जाना कम कर दिया था। अपार्टमेंट के पास स्थित श्रीराम प्लेस मार्केट के ग्राउंड फ्लोर पर ही लेडिज ब्यूटी पार्लर एंड ट्रेनिंग सेंटर रिमझिम चला रही थीं।

पार्लर के लिए दोपहर 12:30 बजे निकली थी रिमझिम
बोरिंग रोड के सहदेव महतो मार्ग में करीब 100 मीटर की दूरी पर ही रिमझिम चतुर्वेदी का फ्लैट और पार्लर, दोनों है। कृष्ण कुंज अपार्टमेंट के पहले फ्लोर पर स्थित फ्लैट नंबर 12A में रिमझिम अपने 16 साल के बेटे के साथ पिछले कई सालों से रह रही हैं। बेटा 10वीं क्लास में पढ़ाई करता है। फ्लैट को इन्होंने खरीद रखा था। इन दोनों के साथ एक महिला दाई भी रहती थी। जबकि, पति डॉ विश्वजीत चतुर्वेदी उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में रह कर वहीं प्राइवेट प्रैक्टिस करते हैं। वो डेंटिस्ट हैं। समय-समय पर पति गाजीपुर से पटना आया-जाया करते थे।

साल 2001 में इन दोनों ने लव मैरिज की थी। रिमझिम का मायका बक्सर तो ससुराल गाजीपुर में है। रिमझिम के देवर पटना में ही CPWD में क्वालिटी मैनेजर हैं। वहीं, उनके प्रोफेसर बहनोई ब्रजेश अपने परिवार के साथ पटना के ही गोला रोड में रहते हैं। अपार्टमेंट के सिक्योरिटी गार्ड उदय कुमार के अनुसार रिमझिम मंगलवार की दोपहर 12:30 के करीब पार्लर के लिए निकली थी। उदय इस अपार्टमेंट में पिछले 4 साल से काम कर रहे हैं। इनके अनुसार किसी बाहरी व्यक्ति का इनके यहां आना-जाना नहीं था। देवर और बहनोई के परिवार ही आते-जाते थे।

पटना में डॉक्टर की पत्नी की गोली मारकर हत्या

गायब है दोनों फोन
रिमझिम के पास दो मोबाइल फोन थे। एक एप्पल का आईफोन तो दूसरा सैमसंग का स्मार्ट फोन, ये दोनों ही गायब हैं। रिमझिम की लाश आज सुबह नौबतपुर में पुनपुन बांध के पास मिली थी। इस महिला की हत्या बेहद क्रुरता के साथ की गई। गोली मारने वाले ने बेहद करीब से रिमझिम के सिर और पेट में दो गोली मारी। पुलिस की शुरुआती जांच में एक गोली मारे जाने की बात सामने आई है।

पुलिस ने वारदात स्थल के आसपास के जगह को खंगाल डाला। मगर, उनकी टीम को रिमझिम के दोनों मोबाइल नहीं मिले। अब सवाल ये है कि रिमझिम के दोनों मोबाइल क्यों गायब किए गए? क्या उस मोबाइल में कोई सबूत था?

किसने किया था कॉल, CDR से होगा खुलासा
जिस वक्त रिमझिम पार्लर में थी, उस दौरान उसके मोबाइल नंबर पर किसने कॉल किया था? यह किसी को नहीं पता। लेकिन, इसका बात का पता लगाने के लिए पुलिस की टीम जुट गई है। फुलवारी शरीफ के ASP मनीष कुमार के अनुसार महिला के दोनों मोबाइल नंबरों की कॉल डिटेल्स खंगाला जा रहा है। इसके आधार किसने कॉल कर बुलाया था, इस बात का पता चल जाएगा। वारदात स्थल को देख कर अंदाजा लगाया जा सकता है कि गोली सुबह 3 से 4 बजे के बीच मारी गई होगी।

इसके पीछे की वजह क्या है? यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। आज सुबह स्थानीय लोगों की नजर लाश पर पड़ी थी। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पहचान के लिए महिला के फोटो को वायरल किया गया था। उस आधार पर ही उसकी पहचान हुई। सबसे बड़ी बात यह है कि रिमझिम ने जो सोने-चांदी की जो ज्वेलरी पहन रखी थी, वही सही सलामत मिली। शरीर पर किसी प्रकार के जख्म नहीं मिला।