• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Bihar News; Prisoners In Bihar Also Get Security Cover; Corona Vaccine To Be Given To Inmates Of All Jails Including Beur From Today

बिहार में कैदियों को भी सुरक्षा का टीका:बेउर समेत तमाम जेलों में बंद 1000 अपराधियों के पहचान पत्र किए गए जमा, आज से लगेगी वैक्सीन

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैदियों और उनके परिवार वालों को वैक्सीनेशन को लेकर जागरूक किया गया था। - Dainik Bhaskar
कैदियों और उनके परिवार वालों को वैक्सीनेशन को लेकर जागरूक किया गया था।
  • 45 साल और इससे अधिक उम्र वाले कैदियों को सुरक्षित रखने का शुक्रवार से शुरू होगा अभियान
  • राज्य की जेलों में कैद हैं 45 साल या उससे अधिक उम्र वाले 30 से 35 प्रतिशत कैदी

कुख्यात अपराधियों, नक्सलियों और दूसरे अपराधिक मामलों में बिहार के तमाम जेलों में बंद कैदियों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन लगाई जाएगी। शुक्रवार से इसके लिए विशेष अभियान की शुरूआत की जा रही है। जेल में कैदियों के वैक्सीनेशन को लेकर राज्य सरकार की तरफ से परमिशन पहले ही दे दी गई थी। इस अभियान के तहत पटना के बेउर जेल सहित राज्य के सभी जेलों में कैद 45 साल और इससे अधिक उम्र वालों को कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन लगाई जाएगी।

पहले चरण के वैक्सीन की खेप सभी जेलों को पहुंचा दी गई है। बिहार के जेल IG मिथिलेश मिश्र के अनुसार बेउर जेल समेत तमाम जेलों को मिलाकर 1000 कैदियों के आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या फिर केंद्र सरकार की तरफ से तय किए गए 5 पहचान पत्रों में से एक जेल प्रशासन को उपलब्ध करा दिए गए हैं।

स्वास्थ्य विभाग ने करवायी वैक्सीन उपलब्ध

कैदियों और उनके परिवार वालों को वैक्सीनेशन को लेकर जागरूक किया गया था। इसके बाद ही उनसे आधार कार्ड या दूसरे पहचान पत्र उपलब्ध कराने को कहे गए थे। इसके लिए जेल प्रशासन की तरफ से एक मोबाइल नंबर जारी की गई थी। उसी के जरिए मोबाइल पर कैदियों के परिवार वालों ने कैदियों के पहचान पत्र को भेजा फिर उनकी लिस्ट तैयार की गई। इसी आधार पर स्वास्थ्य विभाग की तरफ से वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है।

बेउर जेल में 300 कैदियों का पहचान पत्र जमा

बेउर जेल में अब तक 300 कैदियों का पहचान पत्र मिला है। इसी तरह समस्तीपुर में 200 और गोपालगंज में 100 कैदियों ने पहचान पत्र जमा करवाएं हैं। राज्य के तमाम जेलों में बंद कैदियों की आबादी का 30 से 35 प्रतिशत हिस्सा 45 साल और उससे अधिक के लोगों का है। वैक्सीनेशन के बाद बहुत सारे लोगों को बुखार भी आता है। इसे भी ध्यान में रखा गया है। धीरे-धीरे करके उन सभी कैदियों को वैक्सीन दी जाएगी, जिनका लिस्ट तैयार हुआ है। जब राज्य में 18 साल या उससे अधिक के लोगों वैक्सीन दी जाएगी तो फिर जेलों में बंद इस उम्र के कैदियों को भी दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...