पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिहार में अब तक 78 लाख को कोरोना टीका:62. 83 लाख पहली डोज ले चुके, 15. 68 लाख डबल डोज लेकर सुरक्षित हुए, पटना में संक्रमण से तीन गुना ज्यादा वैक्सीनेशन

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
न्यू गार्डिनर अस्पताल पटना में वैक्सीनेशन करती नर्स। - Dainik Bhaskar
न्यू गार्डिनर अस्पताल पटना में वैक्सीनेशन करती नर्स।

अब तक प्रदेश में 7851116 लोगों ने कोरोना का टीका लिया है। इसमें 1568033 लोगों ने दोनों डोज का कोर्स पूरा कर लिया है, जबकि 62,83,083 लोगों को पहली डोज ही लग पाई है। राज्य में कुल 3032 सेंटर पर वैक्सीनेशन हुआ है, जिसमें 3005 सरकारी और 27 प्राइवेट हैं। लॉकडाउन के बाद भी लोग वैक्सीनेशन के लिए घर से निकल कर कोरोना पर चोट करने का प्रयास कर रहे हैं।

7 मई को 67396 वैक्सीनेशन

राज्य में 7 मई को 67396 लोगों ने वैक्सीन लगवाई है। इसमें पहली खुराक लेने वालों की संख्या 29047 है। 45 से 59 वर्ष के बीच के 15485 लोगों ने और 60 वर्ष से ऊपर के 8501 लोगों ने कोरोना का पहला टीका लिया है। अब तक राज्य में पहली खुराक लेने वालों की संख्या 62,83,083 है, जिसमें 45 से 59 वर्ष के 22,86,362 और 60 वर्ष से अधिक उम्र के 31,79,586 लोग शामिल हैं।

1568033 लोग ले चुके दूसरी डोज

राज्य में अब तक 1568033 लोगों ने वैक्सीन की दूसरी डोज ले ली है। 7 मई को दूसरी डोज लगवाने वालों की संख्या 38349 रही है। इसमें 45 से 49 वर्ष के 17693 लोगों ने और 60 वर्ष से अधिक उम्र के 19023 लोगों ने टीके की दूसरी डोज ली है। अब तक राज्य में 1568033 लोग कोरोना वैक्सीन का डबल डोज लेकर काफी हद तक सुरक्षित हो गए हैं। इसमें 45 से 59 वर्ष वालों की कुल संख्या 367696 है। जबकि, 60 वर्ष से अधिक उम्र के 654722 लोगों ने वैक्सीन की दूसरी डोज ली है।

पुरुषों से पीछे नहीं महिलाएं

वैक्सीनेशन में महिलाएं भी पुरुषों से पीछे नहीं हैं। राज्य में अब तक 3240029 पुरुषों ने कोरोना का टीका लगवाया है। जबकि, 3020737 महिलाओं ने भी कोरोना की वैक्सीन लगवा ली है। राज्य में सबसे अधिक कोवीशील्ड लगाया गया है। कोवीशील्ड वैक्सीन की खुराक 7260828 लोगों की दी गई है जबकि 438491 लोगों को कोवैक्सिन दी गई है। प्रदेश में कोरोना के खौफ के बीच टीकाकरण की रफ्तार तेज नहीं है। इसका बड़ा कारण लॉकडाउन भी है। कई ऐसे लोग भी हैं जो घर से साधन के अभाव में टीकाकरण के लिए नहीं निकल पा रहे हैं। संभावना है कि 18+ का वैक्सीनेशन शुरू होते ही एक बार फिर लंबी लाइन लगेगी।

राजधानी में वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज

राजधानी पटना में कोरोना के मरीजों के मिलने के साथ-साथ वैक्सीनेशन की रफ्तार को भी तेज कर दिया गया है। यहां रोज प्रदेश के करीब 20 फीसदी पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। वहीं, अच्छी बात है कि पटना की 11.61 फीसदी आबादी पहली या दूसरी डोज ले चुकी है। जो राज्य में सबसे ज्यादा है। 6 मई को पटना में 11729 लोगों को वैक्सीन लगी, जबकि 3665 लोग पॉजिटिव पाए गए। 5 मई को 6845 लोगों को वैक्सीन लगी, जबकि 2455 लोग पॉजिटिव पाए गए। आंकड़ों के अनुसार मई में पॉजिटिव मिलने वाले मरीजों से तीन गुना ज्यादा लोगों का वैक्सीनेशन पटना में हुआ है।