कोरोना के खतरे के बीच पंचायत चुनाव का तीसरा चरण:बिना मास्क वोटिंग पर लगाई थी रोक, बूथों पर सोशल डिस्टेंस तोड़ बिना मास्क के वोटर्स की भीड़

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मतदान केंद्रों पर बिना मास्क के दिखे वोटर। - Dainik Bhaskar
मतदान केंद्रों पर बिना मास्क के दिखे वोटर।
  • 35 जिलों के 50 प्रखंडों में हो रहा है चुनाव

बिना मास्क के वोटिंग पर रोक लगा दी गई थी। आदेश जारी किया गया था कि किसी भी मतदाता को बिना मास्क वोटिंग नहीं करने दिया जाएगा। लेकिन आदेश पूरी तरह से कागजी निकला है। पहले और दूसरे चरण की तरह तीसरे चरण में चुनाव आयोग के आदेश का पालन कराने को लेकर बूथों पर कोई सख्ती नहीं दिखी। भीड़ में बिना मास्क और सोशल डिस्टेंस के नियम का पालन किए बगैर मतदाता लंबी कतार में लग गए।

मतदाताओं की भीड़ बता रही कोरोना का खतरा

पंचायत चुनाव में बूथों पर मतदाताओं की भीड़ कोरोना का खतरा बताने के लिए काफी है। समस्तीपुर के दलसिंहसराय के नगरगामा पंचायत में मतदाताओं की लगी लंबी लाइन कोरोना का खतरा बता रही है। यहां बूथ संख्या 101 पर EVM खराब होने के बाद मतदाताओं की लंबी कतार लग गई। लगभग 250 मीटर की लंबी लाइन में मतदाता वोटिंग के लिए लगे थे लेकिन कोरोना की गाइडलाइन का पालन कराने वाला कोई नहीं दिखा। पुरुषों की तरह महिलाओं की लाइन का भी वही हाल था। महिलाएं कतार में लगी रहीं। एक दूसरे के बीच कोई फासला नहीं दिखा। पुरुषों की लाइन में भी वहीं हाल रहा है। अगर इसी तरह से लापरवाही तो कोरोना का खतरा अधिक होगा।

35 जिलों में कोरोना को लेकर एक तरह का इनपुट

तीसरे चरण में बिहार के 35 जिलों के 50 प्रखंडों में चुनाव है। वोटिंग को लेकर पूरी सुरक्षा व्यवस्था का दावा है लेकिन 35 जिलों से शुरुआती इनपुट है कि कोरोनों की गाइडलाइन पालन कराने को लेकर कोई विशेष सख्ती नहीं दिख रही है। पटना के नौबतपुर और बिक्रम प्रखंड में चुनाव है। इन दोनों प्रखंडों में भी कोरोना की सुरक्षा गाइडलाइन को लेकर कोई विशेष चौकसी नहीं है। तीसरे चरण का मतदान काफी अहम है क्योंकि इसमें 35 जिलों के 50 प्रखंडों में मतदान होना है। कोरोना को लेकर चूक 35 जिलों के साथ पूरे बिहार के लिए भारी पड़ सकती है।

35 जिलों के 50 प्रखंडों में होगा चुनाव

पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में शुक्रवार 8 अक्टूबर को 35 जिलों के 50 प्रखण्डों में सुबह 7 से वोटिंग शुरु हो गई है। कुल कुल 10529 मतदान केंद्राें पर वोटिंग हो रही है। इसके लिए 6646 मतदान भवन का इस्तेमाल किया जा रहा है। दावा किया गया था कि सभी भवनों में कोरोना को लेकर विशेष तैयारी की गई है लेकिन जिलों से आ रही तस्वीरें सरकारी दावों को फेल कर रही हैं। शुक्रवार को 30,38,427 पुरूष मतदाता, 27,59,756 महिला मतदाता एवं 196 अन्य मतदाताओं सहित कुल 57,98,379 मतदाता वोटिंग करेंगे। तृतीय चरण के लिए पदों की कुल संख्या 23128 है जिसमें ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 10240, पंच पद के लिए 10240, मुखिया पद के लिए 753, पंचायत समिति सदस्य पद के लिए 1034, ग्राम कचहरी सरपंच पद के लिए 753 तथा जिला परिषद् सदस्य के लिए 108 पद निर्धारित हैं।

चुनाव मैदान में 81616 कैंडीडेट्स

आयोग के मुताबिक तृतीय चरण के लिए चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों की कुल संख्या 81616 है जिसमें ग्राम पंचायत सदस्य के लिए 46757, पंच पद के लिए 16464, मुखिया पद के लिए 6079, पंचायत समिति सदस्य पद के लिए 6706, ग्राम कचहरी सरपंच पद के लिए 4458 तथा जिला परिषद् सदस्य के लिए 1152 अभ्यर्थी शामिल हैं। तृतीय चरण में चुनाव लड़ने वाले पुरूष प्रत्याशियों की संख्या 38555 है जिसमें ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 22403, पंच पद के लिए 6907, मुखिया पद के लिए 3011, पंचायत समिति सदस्य पद के लिए 3280, ग्राम कचहरी सरपंच पद के लिए 2436 तथा जिला परिषद् सदस्य के लिए 518 प्रत्याशी मैदान में हैं।

खबरें और भी हैं...