शादियों की डेट बढ़ी, बैंड-कैटरिंग की बुकिंग भी कैंसिल:कोरोना के कारण संकट में शादियां, कारोबारियों को अब 21 तारीख का इंतजार

पटना5 महीने पहले

सरकार की ओर से लागू कोविड की नई गाइडलाइन के अनुसार शादी ब्याह के आयोजन में 50 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते हैं। 21 जनवरी तक मंदिर भी बंद कर दिए गए हैं। शादी समारोह में बारात निकालने और डीजे पर भी रोक लगा दी गई है। इसका बड़ा असर इससे जुड़े कारोबारियों पर पड़ा है। पंडित जी से लेकर मैरिज गार्डेन संचालक, टेंट कारोबारी, कैमरा मैन, कैटरर, फूलों की सज्जा करने वाले और बैंड वाले सभी परेशानी में हैं। सबसे ज्यादा असर जनवरी माह में 21, 22 जनवरी पर पड़ा है, जिस दिन लगन जोरदार है। लोग इतने डरे हुए हैं कि फरवरी की बुकिंग भी कैंसिल करवा रहे हैं। भास्कर ने इन सभी संचालकों से बातचीत की। पटना के बड़े होटल संचालकों से भी बात की।

21 जनवरी के बाद की स्थिति का इंतजार कर रहे लोग: बी. डी. सिंह, होटल मौर्या

पटना में होटल मौर्या के जीएम बी.डी. सिंह कहते हैं कि लोगों की मजबूरी है कि 50 लोगों में ही शादी करना होगी। जिन लोगों ने बुकिंग कराई है वे अभी वाच कर रहे हैं। 21 जनवरी के बाद कैसी स्थिति रहती है इस पर काफी कुछ डिपेंड करेगा। अभी लोगों ने बुकिंग रद्द नहीं कराई है। हमें हर हाल में कोविड गाइडलाइन का पालन तो करना ही है।

रेस्टोरेंट कारोबार बुरी तरह से प्रभावित: रजनीश कुमार, होटल चाणक्या

होटल चाणक्या में सेल्स एंड फ्रंट ऑफिस मैनेजर रजनीश कुमार कहते हैं कि अभी तो लोगों ने शादी आदि की बुकिंग कैंसिल नहीं कराई है, लेकिन रात 8 बजे के बाद बंद करने का आदेश है इससे रेस्टोरेंट कारोबार काफी प्रभावित हुआ है। पटना में ज्यादातर लोग शाम आठ बजे के बाद से डिनर के लिए निकलते हैं।

80 फीसदी बुकिंग कैंसिल करा ली गई: पंकज कुमार पिंटू, टेंट डेकोरेटर्स एसो.

ऑल बिहार टेंट डेकोरेटर्स वेल्फेयर एसोसिएशन के प्रेसीडेंट पंकज कुमार पिंटू बताते हैं कि खरमास के बाद यानी 14 जनवरी से लेकर 21 जनवरी तक के 80 फीसदी बुक कार्यक्रम लोगों ने कैंसिल करवा लिया है। समझ लीजिए जनवरी की लगभग सारी बुकिंग कैंसिल करा ली लोगों ने। वे कहते हैं कि पहले ही दो साल बर्बाद हो चुके हैं। अब फिर से हमारा कारोबार चौपट हो रहा है। मध्यप्रदेश में ढाई सौ लोगों को शादी में परमिशन दिया गया है, हरियाणा में 100 को परमिशन है पर बिहार में 50 की ही परमिशन मिली है। वे कहते हैं कि पूरे बिहार में तीन-चार हजार मैरेज गार्डेन हैं, इसमें सिर्फ पटना में एक हजार होंगे। लगभग 5 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। टेंट से लेकर फ्लावर, कैटरर सभी को मिला लें तो 5 करोड़ का नुसान का अनुमान हैं। बैंड, डीजे वाले तो बर्बाद ही हो गए हैं।

आर्थिक रुप से और पीछे चले जाएंगे: शशिकांत, रेड कारपेट मैरेज हॉल

पटना के आशियाना दीघा रोड में रेड कारपेट मैरैज हॉल के संचालक कुमार शशिकांत कहते हैं कि पिछले कोविड काल में हमारे व्यवसाय से जुड़े लोगों को कितना नुकसान हुआ इसका अनुमान लगा पाना मुश्किल है। एक बार फिर से वही स्थिति है। आर्थिक रूप से हम जैसे कारोबोरी और पीछे चले जाएंगे। इसलिए सरकार हमारे जैसे लोगों हजारों मैरेज हॉल संचालकों के बिजली बिल और अन्य टैक्सेज में रियायत दे। वे कहते हैं कि जिन लोगों ने जनवरी माह में बुकिंग करायी थी वे अब रद्द करा रहे हैं।

फरवरी की भी बुकिंग कैंसिल करवा रहे लोग: अशोक कुमार, फोटोग्राफर

खास तौर से शादी के विभिन्न आयोजनों की फोटोग्राफी के कार्य में लगे फोटोग्राफर अशोक कुमार बताते हैं कि पिछले कोविड काल के नुकसान से हमलोग उबर नहीं पाए हैं। वे कहते हैं कि लोग फरवरी के लिए की गई बुकिंग भी कैंसिल करवा रहे हैं। दिए गए एडवांस लोग वापस मांग रहे हैं। अब तक तीन लोगों को एडवांस वापस कर चुका हूं। इससे 6-7 लाख का नुकसान हो चुका है। सिर्फ पटना की बात करें तो 1500 से ज्यादा फोटोग्राफर हैं। ये सभी परेशानी से घिर गए हैं।

95 फीसदी लोगों ने दिया काम कैंसिल करवा लिया: कमलेश सिंह, फूल सजावट कारोबारी

कमलेश कुमार सिंह 2000 से फूलों की सजावट का काम पटना में कर रहे हैं। इनका काम पटना के बड़े होटलों में भी होता है। वे कहते हैं कि जनवरी में 16 तारीख से लगन शुरू है, 21 जनवरी और 22 जनवरी को जोरदार लगन है, पर कोविड को देखते हुए लोगों ने शादी की या तो डेट बढ़ा दी है या फिलहाल डेट स्थगित कर दी है। 95 फीसदी लोगों ने दिया हुआ काम कैंसिल करा लिया है। शादी आयोजन में शामिल होने की 50 लोगों की सीमा की बात करें तो आधे लोग व्यवस्था से ही जुड़े होते हैं तो फिर शादी कैसे हो पाएगी।

वे कहते हैं कि पटना में फूल कारोबार से जुड़े 50 से ज्यादा कारोबारी होंगे। इन सबको नुकसान हो रहा है। जनवरी-फरवरी दो माह की बात करें तो एक बड़े कारोबारी को 30 लाख के बिजनेस का नुकसान होने का अनुमान है। गोदाम का किराया और स्टाफ को पेमेंट बैठा कर देना पड़ रहा है। जो सामान रखे हैं वे भी खराब होंगे। फूल, कपड़े सब रखे-रखे खराब हो जाएंगे।

कोविड की लहर हमारे लिए अप्रिय घटना की तरह: सुरेश जायसवाल, श्री दुर्गा बैंड

पटना में 13 वर्षों से शादी जैसे समारोह में बैंड बजाने वाले श्री दुर्गा बैंड के सुरेश प्रसाद जायसवाल कहते हैं कि पहले से हम काफी नुकसान झेल चुके हैं और एक बार फिर परेशानी आ खड़ी हुई है। कोविड की तीसरी लहर हमारे लिए अप्रिय घटना की तरह है। वे कहते हैं कि पटना शहर में डेढ़ दौ सौ बैंड पार्टी होंगे, जिसमें एक लाख लोग लगे हैं। दिक्कत यह भी है कि स्टाफ को तो पेमेंट करना ही है चाहे बैंड बजे या नहीं बजे।

शादी के निमंत्रण बांटने के बाद असमंजस में हैं लोग: पुजारी संजय कुमार तिवारी

पटना केशरी नगर स्थित विजय राघव मंदिर के व्यवस्थापक संजय कुमार तिवारी कहते हैं कि 21 जनवरी तक मंदिर बंद रहेगा। कोविड प्रोटोकॉल की वजह से लोगों के यहां शादी-ब्याह भी प्रभावित हुआ है। कुछ लोगों ने तो खरमास के बाद का निमंत्रण- पत्र बांटने के बाद भी असमंजस में हैं। लोग काफी भयभीत हैं कि कोरोना की वजह से कैसे शादी होगी। कोरोना की स्थिति और भयावह हुई तो कई और शादियों की तिथि बढ़ेगी।