पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना को मात देने वालों को सता रहा ब्लैक फंगस:कोरोना निगेटिव होने के बाद 95 लोगों में ब्लैक फंगस; IGIMS में चल रहा इलाज

पटना8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।
  • कोरोना पॉजिटिव के साथ ब्लैक फंगस के 11 संक्रमितों की खतरे में जान

कोरोना को मात देने वालों में ब्लैक फंगस का खतरा तेजी से बढ़ रहा है। पटना के इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में 95 ऐसे ब्लैक फंगस के संक्रमित हैं जो कोरोना को मात देने के बाद अब नई बीमारी की चपेट में हैं। IGIMS के मेडिकल सुपरिटेंडेंट का कहना है कि कोरोना निगेटिव वालों में अधिक संमस्या आ रही है।

पटना AIIMS में 100 से अधिक संक्रमित भर्ती

पटना AIIMS में अब तक 100 से अधिक मामले आए हैं। अब तक कुल भर्ती संक्रमितों का इलाज मेडिसिन और सर्जरी से किया जा रहा है। कोविड के नोडल डॉ संजीव का कहना है कि कोरोना को मात देने के बाद ब्लैक फंगस के संक्रमण की रफ्तार तेज हो गई है। अब तक निगेटिव रिपोर्ट के साथ ब्लैक फंगस के मामले अधिक आए हैं। भर्ती मरीजों में कई ऐसे हैं जिनका ऑपरेशन किया जा चुका है और कई सर्जरी की कतार में हैं। डॉक्टरों का कहना है कि संक्रमितों में कुछ दवा से ठीक किए जा रहे हैं और जिन्हें सर्जरी की जरूरत है उनके लिए शेड्यूल तय किया जा रहा है।

IGIMS में 3 नए संक्रमित भर्ती

IGIMS में 24 घंटे में 3 नए संक्रमितों को भर्ती किया गया है। ब्लैक फंगस वार्ड में 11 संक्रमित कोरोना पॉजिटिव के साथ ब्लैक फंगस से पीड़ित हैं और 95 संक्रमित ऐसे हैं जिनकी रिपोर्ट तो निगेटिव है लेकिन ब्लैक फंगस की पुष्टि हो गई है। ऑपरेशन वाले कुल 18 ब्लैक फंगस के मामले हैं। कुल ब्लैक फंगस के भर्ती संक्रमितों की संख्या 124 है। 6 संक्रमित ऐसे हैं जिनमें ब्लैक फंगस की पुष्टि नहीं हो पाई है। IGIMS के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ मनीष मंडल का कहना है कि संक्रमितों का इलाज किया जा रहा है। कहीं से भी कोई समस्या न हो इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है। मेडिसिन और दवाओं को लेकर टीम लगी रहती है। संक्रमित को ऑपरेशन की आवश्यकता होती है तो उसे भी जल्दी से जल्दी कराया जाता है।

PMCH में 10 नए मामले आए

पटना मेडिकल कॉलेज में शनिवार को ब्लैक फंगस के 10 नए मामले आए हैं। PMCH में आए 10 नए मामले में 5 संक्रमितों की हालत गंभीर बताई जा रही है। एक संक्रमित की हालत ज्यादा खराब थी और उसे तत्काल ऑपरेशन की आवश्यकता थी जिससे उसे रेफर कर दिया गया है। शुक्रवार की रात एक और संक्रमित महिला इलाज नहीं होने के कारण भाग गई है। अब तक 12 से अधिक मरीज संस्थान के ब्लैक फंगस वार्ड से इलाज नहीं होने का आरोप लगाकर बिना बताए भाग गए हैं। यहां से मरीजों को IGIMS और AIIMS के लिए रेफर किया जा रहा है। PMCH में कुल ब्लैक फंगस के अब 28 संक्रमित भर्ती हैं।