पटना में पुलिस की गुंडई का VIDEO देखें:कानून का भी नहीं डर, हाईकोर्ट के पास मानवाधिकार का उल्लंघन, 3 युवकों को अपराधियों की तरह पीटा

पटनाएक वर्ष पहले
पुलिस को मानवाधिकार का भी डर नहीं वह बीच सड़क पर डंडे बरसाती है।

बिहार पुलिस बेलगाम हो गई है। कब कहां किसे पीट दे कोई भरोसा नहीं है। छोटी सी गलती पर लोगाें काे अपराधियों की तरह पीटा जा रहा है। गुरुवार को पटना हाईकोर्ट के पास तीन युवकों को पुलिस ने अपराधियों की तरह पीटा। IGIMS में भर्ती मरीज को पैसा देने जा युवकों की गलती इतनी थी कि वह ट्रिपल राइडिंग कर रहे थे। वह चालान भरने को तैयार थे लेकिन पुलिस दबदबा बनाने के लिए पिटाई की। पुलिस को मानवाधिकार का भी डर नहीं वह बीच सड़क पर डंडे बरसाती है।

पीड़ित ने कहा यह पुलिस की दादागिरी है

मधेपुरा के रहने वाले प्रवेश ठाकुर का कहना है कि उनका भाई का IGIMS में ऑपरेशसन हुआ है। वह वार्ड 3 में भर्ती है। प्रवेश अपने भाई राजीव ठाकुर के साथ अस्पताल पैसा देने आया था। किसी रिश्तेदार से पैसा लेना था वह उन्हें लेकर ATM और फिर इनकम टैक्स चौराहे की तरफ से वापस IGIMS की तरफ जा रहे थे। धूप के कारण वह जिनसे पैया लिए उसे भी बाइक पर बैठा लिए और हाईकोर्ट की तरफ बढ़ गए। प्रवेश ठाकुर का कहना है कि वह हाईकोर्ट के पास पहुंचे तो चेकिंग चल रही थरी। वह पुलिास को देख बाइक से उतर गए और एक अधिकारी के कहने पर चालान करने को तैयार हो गए, लेकिन सब इंस्पेक्टर लव कुमार सिंह ने दबदबा बनाने के लिए लाठी मारना शुरु कर दिया। पीड़ितों का कहना है कि पुलिस गुंडागर्दी कर रही है।

मानवाधिकार जाएंगे पीड़ित

पीड़ित प्रवेश ठाकुर और राजीव ठाकुर का कहना है कि पुलिस का काम यह नहीं है कि वह पिटाई करे। वह इस मामले की शिकायत मानवाधिकार आयोग और डीजीपी तक ले जाएंगे। उनका आरोप है कि वह चालान भरने को तैयार थे इसके बाद भी पुलिस वालों ने जमकर पिटाई की। आरोप है कि दारोगा लव कुमार सिंह बिना कुछ जाने सुने ही लाठी बरसाना शुरु कर दिए। वह गंदी गंदी गाली देने के साथ लाठी से पिटाई किए। वीडिया बनाने वाले युवक से भी दारोगा लव कुमार ने अभद्रता की और गंदी गंदी गाली दी। मोबाइल भी छीन लिया, बाद में वीडियो डिलीट कर मोबाइल वापस किया गया। पुलिस की गुंडई के बाद डिलीट कराया गया वीडिया जुगाड़ से रिस्टोर हो गया जिसमें पुलिस के दारोगा लव कुमार सिंह की की गुंडागर्दी साफ दिख रही है।

खबरें और भी हैं...