• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Bihar Policemen Angry For Getting Poor Quality Food And Local Water Bottel After 13 Hour Duty In Dussehra

दशहरा ड्यूटी में लगे जवानों का 140 रुपए वाला खाना:पटना में 13 घंटे की ड्यूटी के बाद मिली ठंडी-सूखी पूड़ी-सब्जी के साथ लोकल पानी की बोतल

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुवार की रात तो कई जगह पुलिस कर्मियों ने ऐसा खाना लेने से मना कर दिया और विरोध भी किया। - Dainik Bhaskar
गुरुवार की रात तो कई जगह पुलिस कर्मियों ने ऐसा खाना लेने से मना कर दिया और विरोध भी किया।

नवमी में ड्यूटी पर लगाए गए पुलिस कर्मियों में आक्रोश है। सुरक्षा की कड़ी ड्यूटी के बाद उन्हें सूखी पूड़ी और नकली पानी दिया गया। कई पुलिस कर्मियों के पास तो रात में 8 बजे तक खाना नहीं पहुंचा। पुलिस कर्मियों की 13 घंटे की ड्यूटी के बाद भी अफसर उनके भोजन पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। भूख के कारण पुलिस कर्मियों को अपनी जेब ढीली कर बाहर से पानी और खाने की व्यवस्था करनी पड़ी है। जिला प्रशासन की तरफ से खाना की व्यवस्था की गई थी, लेकिन ठेकेदारों की मनमानी भारी पड़ी है।

पौष्टिक खाना देने का है नियम

पुलिस कर्मियों को खाना देने के लिए 140 रुपए का बजट ठेकेदार को दिया गया था। इसमें चावल, दाल, मिठाई, सब्जी पूड़ी के साथ सलाद और चटनी के साथ पानी देना था, लेकिन जवानों को पूड़ी और सब्जी-सलाद के साथ अचार व पानी दे दिया गया। कड़ी ड्यूटी के बाद ऐसे खाने से पुलिस के जवान बीमार पड़ जाएंगे। गुरुवार की रात तो कई जगह पुलिस कर्मियों ने ऐसा खाना लेने से मना कर दिया और विरोध भी किया। लेकिन इसके बाद भी खाने में बदलाव नहीं किया गया।

ट्रैफिक पुलिस के साथ पटना पुलिस की तैनाती

नवमी पर सुरक्षा को लेकर पटना में चप्पे - चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गई थी। रुट का डायवर्जन भी किया गया था, इस कारण ट्रैफिक पुलिस के जवानों को भी बड़े पैमाने पर लगाया गया था। डाकबंगला, काेतवाली, गांधी मैदान, बेजली रोड, खाजपुरा, पुलिस लाइन के साथ 45 स्थानों पर पटना में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई थी। लगभग 25 सौ जवानों को अतिरिक्त रुप से तैनात किया गया था। ड्यूटी के कड़े शेड्यूल के बाद भी खाने को लेकर प्रशासन की तरफ से कोई खास इंतजाम नहीं किया गया।

पुलिस कर्मियों में बढ़ रहा आक्रोश

अनुशासन वाले पुलिस विभाग में भी आक्रोश फैल रहा है। पुलिस कर्मियों का कहना है कि सुरक्षा को लेकर तो चौकसी होती है, लेकिन व्यवस्था देने में विभाग फेल हो जाता है। पैकिंग का खाना दिया गया, वह भी इतना लेट कि पूड़ी सूख गई थी। 13 घंटे में पानी की एक बोतल, वह भी किस कंपनी की है और कहां की बनी है, कोई पता नहीं है। इसे लेकर पुलिस कर्मियों में आक्रोश है।

पेट्रोलिंग वाले भी नहीं दिए ध्यान

एक पुलिस कर्मी ने पहचान उजागर नहीं करने के आग्रह पर कहा कि वह 13 घंटे से खाना नहीं पाए हैं। पेट्रोलिंग के लिए आने वाले साहब भी नहीं रुकते हैं। वह गाड़ी से उतरते भी नहीं है, तेज रफ्तार में जांच कर निकल जाते हैं। पुलिस कर्मियों को खाना मिला या नहीं, मिला क्या परेशानी है, इसकी कोई जानकारी नहीं ली जाती है। इस दौरान कुछ लोगों ने पुलिस कर्मियों के खाने को लेकर कंट्रोल रूम को फोन भी लगाया, लेकिन नंबर ही नहीं मिला है। पटना में दशहरा की ड्यूटी में लगे पुलिस कर्मियों के साथ पुलिस एसोसिएशन ने प्रशासन से पुलिस कर्मियों के खाने की व्यवस्था की मांग की है।