पटना समेत पूरे बिहार में भारी बारिश:2 दिन में आकाशीय बिजली से 21 की मौत; अगले 3 दिन ऐसा ही रहेगा मौसम

पटना2 महीने पहले

पटना में झमाझम बारिश हो रही है। बुधवार देर रात करीब 2 बजे से लगातार बारिश रही है। लगातार दूसरे दिन बारिश से राजधानी के कई इलाकों में जलजमाव हो गया है। बिहार में पिछले 24 घंटे में 37.9 MM यानी सामान्य से 254% अधिक बारिश हुई है। पटना में 4.4 MM बारिश रिकॉर्ड की गई। राज्य में सबसे अधिक बारिश अररिया में हुई। यहां 134.5 MM बारिश रिकॉर्ड की गई।

बिहार में एक साथ दो हवाओं का सिस्टम सक्रिय है। इसके साथ ही चक्रवाती हवाओं का प्रभाव राजस्थान से बंगाल खाड़ी तक बना हुआ है। इसकी वजह से बिहार के सभी जिलों में मध्यम दर्जे की बारिश होने के आसार है।

मौसम विभाग की मानें तो गुरुवार यानी आज पटना, गया, नालंदा,शेखपुरा, जहानाबाद, नवादा, बेगुसराय, लखीसराय, बक्सर, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद, अरवल, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, सिवान, सारण गोपालगंज जिले के अनेक स्थानों पर भारी बारिश के आसार है। इनमें से कई जिलों में आज सुबह ही बारिश हो रही है।

वहीं सुपौल, अररिया, किशनगंज, मधेपुरा, सहरसा, पूर्णिया, कटिहार, भागलपुर, बांका, जमुई, मुंगेर, खगड़िया जिले के कुछ स्थानों पर भी बारिश होने के आसार हैं।

औरंगाबाद जिले में देर रात से सुबह तक हल्की बारिश हुई।
औरंगाबाद जिले में देर रात से सुबह तक हल्की बारिश हुई।

मौसम विभाग के मुताबिक 15 दिनों के बाद बिहार में दो हवाएं एक साथ सक्रिय हुई हैं। जिसमें उत्तर बिहार में पूर्व और दक्षिण-पूर्व और दक्षिण बिहार में पछुआ हवाओं का प्रभाव है। जिसकी वजह से बिहार के सभी हिस्से में बारिश का सिस्टम सक्रिय है। इसके साथ ही तेज हवा, वज्रपात का भी असर दिखाई देगा।

वज्रपात ने पिछले 2 दिनों में 21 लोगों की ली जान

मौसम विभाग ने अगले 3 दिनों तक बिहार के सभी जिलों में बारिश के साथ-साथ वज्रपात की आशंका जताई है। वज्रपात ने बिहार में शोक का माहौल कर दिया है। मंगलवार जहां बिहार के 7 जिलों में वज्रपात से 16 लोगों की जान गई थी। वहीं बुधवार को 4 जिलों में 5 लोगों की जान गई हैं। मुख्यमंत्री ने उन सभी के परिवार को 4 लाख रुपए मुआवजा देने की बात भी कही है।

बेतिया में लगातार बारिश शहर में कई जगह जलजमाव हो गया है।
बेतिया में लगातार बारिश शहर में कई जगह जलजमाव हो गया है।

दिन का पारा छह डिग्री गिरा

पटना में मानसून की एंट्री के बाद पहली बार लगातार पांच घंटे तक हल्की बारिश होती रही। इस दौरान 12 से 19 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल रही थी। जिसके कारण दिन का पारा सामान्य से 6 डिग्री और रात का तापमान सामान्य से एक डिग्री नीचे रहा। इसके साथ ही आर्द्रता 92 फीसदी तक पहुंच गई है। इसके प्रभाव से तीन दिनों तक बारिश होने के आसार हैं।

पटना के आसपास के क्षेत्रों में तेज बारिश, वज्रपात होने का अनुमान है। पटना में बुधवार को अधिकतम तापमान 28.2 डिग्री और न्यूनतम तापमान 26.2 डिग्री दर्ज किया गया है। गुरुवार को अधिकतम तापमान 32 डिग्री और न्यूनतम तापमान 26 डिग्री होने के आसार हैं।

पूर्व और दक्षिण-पूर्व हवाओं का दिख रहा प्रभाव

मौसम विभाग के मुताबिक, बिहार में एक बार फिर से पूर्व और दक्षिण-पूर्व हवाओं का प्रभाव दिखाई दे रहा है। इसके साथ ही एक ट्रफ रेखा पूर्व से पश्चिम पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल होते हुए ओडिशा और बंगाल की खाड़ी तक जा रही है, जिसका सक्रिय सतह से 900 मीटर ऊपर तक है।

इसकी वजह से बिहार के उत्तरी क्षेत्र के पूर्वी-पश्चिम चंपारण, सीवान, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, मधुबनी, शिवहर सहित 28 जिलों में मध्य दर्जे की बारिश होने के आसार हैं। इस दौरान पूर्वी-पश्चिम चंपारण, सीवान, गोपालगंज भारी बारिश होने की संभावना है।

उफान पर नदियां-आफत में जान,VIDEO:बिहार में बाढ़ से बर्बादी, कटाव की डराने वाली तस्वीरें; जलजमाव से जीवन अस्त-व्यस्त