नमी से पटना में बना बारिश का बादल:साउथ वेस्ट मानसून के कमजोर पड़ने के बाद हीटिंग इफेक्ट से पटना में बारिश; बक्सर, सीवान, गोपालगंज, पूर्णिया और उत्तर बिहार के कई जिलों में होगी हल्की-फुल्की बारिश

पटना10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पटना में दोपहर से ही बादल उमड़ने लगे थे। - Dainik Bhaskar
पटना में दोपहर से ही बादल उमड़ने लगे थे।

साउथ वेस्ट मानसून के कमजोर होने के बाद भी हीटिंग इफेक्ट से बारिश का सिस्टम बन रहा है। हालांकि बारिश बिहार के सभी क्षेत्रों में नहीं हो रही है, लेकिन एक दो स्थानों पर बारिश काफी तेज है। पटना में दोपहर बाद से ही हीटिंग इफेक्ट का असर दिखने लगा था और देर शाम बारिश होने लगी। मानसूनी बारिश नहीं होने के कारण यह अधिक समय तक नहीं हुई, लेकिन जितनी देर हुई उससे लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली है।

मानसून का कोई सिस्टम नहीं है एक्टिव

मौसम विभाग का कहना है कि साउथ वेस्ट का मानसून पूरी तरह से कमजोर पड़ गया है। इससे मानसूनी बारिश पूरी तरह से ठप है। हालांकि नमी बनी हुई है और तपिश भी बढ़ रही है। तापमान बढ़ने के कारण हीटिंग इफेक्ट से बारिश का बादल बन रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि हीट इफेक्ट के कारण पटना सहित बिहार के कई शहरों में बारिश के बादल बन रहे थे। पटना, बक्सर, सीवान, गोपालगंज, पूर्णिया और उत्तर बिहार के कई जिलों में दोपहर बाद से ही बारिश के बादल बनने लगे थे। मौसम विभाग का कहना है इस बीच दो चार दिन पर ऐसे ही बारिश होगी। जब मानसून फिर से एक्टिव होगा तो बारिश बढ़ेगी।

बढ़ेगा तापमान, होगी गर्मी

मौसम विभाग के मुताबिक 24 घंटे में बिहार में एक दो स्थानों पर ही बारिश हुई है। इसमें प्रमुख है जयनगर 42 एमएम, बहादुरगंज में 24.2 एमएम, किशनगंज में 17.6 एमएम, जहानाबाद और टेकारी में 16..2 एमएम बारिश हुई है। मौसम विभाग का कहना है कि इस बारिश से भी गर्मी में राहत नहीं होगी क्योंकि यह कम देरी के लिए ही होगी। मानसून के सक्रिय नहीं होने से पूरे राज्य में अधिकतम तापमान सामान्य से 2 से 3 डिग्री सेंटी ग्रेट अधिक रिकॉर्ड की जा रही है। मौसम विभाग के मुताबिक यह स्थिति अभी आने वाले दिनों में बनी रहेगी। हालांकि कुछ स्थानों पर गरज के साथ हीट इफेक्ट के कारण बारिश हो सकती है। फिलहाल इधर कई दिनों तक मानसूनी बारिश की संभावना नहीं है।

खबरें और भी हैं...