पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राज्य का कोटा बढ़ा:बिहार को अब मिलेगा 214 एमटी ऑक्सीजन, दाे सप्ताह में आठ नए रिफिलिंग प्लांट खोले गए

पटना14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि जिन जिलों में प्लांट नहीं थे, वहां भी खोले गए

केंद्र सरकार ने बिहार को मिलने वाले ऑक्सीजन का कोटा बढ़ा दिया है। अब राज्य काे 214 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिलेगा। पहले 194 मीट्रिक टन का कोटा ही निर्धारित था। राज्य सरकार ने कहा कि कोविड-19 के मरीजों को ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। पिछले दो सप्ताह में राज्य में 8 नए रिफिलिंग प्लांट खोले गए हैं। पहले 11 प्लांट ही थे। अब 19 प्लांट से ऑक्सीजन रिफिलिंग का काम किया जा रहा है और अस्पतालों में सप्लाई की जा रही है।

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि जिन जिलों में प्लांट नहीं थे, वहां भी खोले गए हैं। अगले एक-दो दिनों में समस्तीपुर में एक और प्लांट खोला जाएगा। राज्य में बोकारो और जमशेदपुर से ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। राज्य में एएसयू प्लांटों से फिलहाल 34 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। इसके अलावा 100 मीट्रिक टन बाहर से लाए जा रहे हैं। लिक्विड ऑक्सीजन को लाने के लिए टैंकर की भी व्यवस्था की गई है। आईओसीएल से एलएमजी टैंकर मिले हैं। कॉम्फेड के 6 टैंकर ऑक्सीजन गैस ढो रहे हैं। और टैंकरों की व्यवस्था का प्रयास किया जा रहा है। राज्य के अस्पतालों में 90.5 करोड़ की लागत से 10 क्रायोजेनिक टैंक लगाए जाएंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पीएमसीएच और एनएमसीएच में एक महीने में यह स्थापित होगा। बाकी अस्पतालों में 3 महीने के अंदर स्थापित कर दिया जाएगा। इसके अलावा ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदने के लिए भी टेंडर हुआ है। जिस कंपनी को क्रायोजेनिक टैंक लगाने का ठेका दिया गया है वह अगले पांच साल तक उसका मेंटेनेंस भी करेगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें