पटियाला के व्यक्ति को साइबर अपराधियों ने लगाया चुना:खुद को बेटे के दोस्त का पिता बता कनाडा में 1.40 लाख ठगा, पटना से दो गिरफ्तार

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पटना पुलिस की गिरफ्त में साइबर अपराधी। - Dainik Bhaskar
पटना पुलिस की गिरफ्त में साइबर अपराधी।

व्हाट्सएप कॉल के जरिए साइबर अपराधियों ने पंजाब के पटियाला के रहने वाले एक शख्स को 1.40 लाख रुपए का चुना लगा दिया है। पटियाला के जिस शख्स के साथ ठगी हुई, उसका नाम शमशेर सिंह है। साइबर अपराधियों ने कुछ दिन पहले शमशेर को व्हाट्सएप कॉल किया। कॉलर ने अपनी पहचान शमशेर के बेटे के दोस्त के पिता के रूप दी। इसके बाद कहा कि कनाडा में उसका एक्सीडेंट हो गया है। मदद के लिए उससे रुपए मांगे। शमशेर ने भी बगैर क्रॉस चेक किए रुपए SBI के उस अकाउंट में जमा कर दिया, जिसका नंबर साइबर अपराधियों ने दिया था। बाद में उस शख्स को पता चला कि कनाडा में किसी का एक्सीडेंट हुआ ही नहीं। वो तो ठगी का शिकार हो गया है। जिसके बाद उसने पटियाला के थाना में केस दर्ज कराया।

फिर वहां की पुलिस ने छानबीन की तो जिस अकाउंट में रुपए ट्रांसफर किए गए, वो पटना में राजवंशी नगर ब्रांच का अकाउंट मिला। जिसके बाद वहां की पुलिस ने पटना पुलिस से कांटैक्ट किया। ठगी के मामले की पूरी जानकारी दी। फिर जांच करते हुए शास्त्री नगर थाना की पुलिस ने विजय विक्रम और योगेश कुमार चौधरी को पकड़ा। इनके पास से कुल 8 बैंक अकाउंट का डिटेल मिला। उसमें एक बैंक अकाउंट वो भी शामिल है, जिसमें शमशेर से 1.40 लाख रुपए ट्रांसफर कराए गए थे। सिटी एसपी सेंट्रल अम्बरीश राहुल के अनुसार गिरफ्तार किए गए इन दोनों का कनेक्शन साइबर अपराधियों के गैंग से है। इनके सारे बैंक अकाउंट को फ्रीज करवा दिया गया है। मोबाइल जब्त कर इनके कनेक्शन को खंगाला जा रहा है। एक युवक पिछले 6 महीने से तो दूसरा 2 महीने से साइबर अपराधियों के लिए काम कर रहा है। इन दोनों का मेन काम साइबर अपराधियों के लिए अलग-अलग नामों से बैंक अकाउंट खुलवाने का है। इसके लिए लोगों को प्रलोभन भी देते हैं। अकाउंट तो ये दूसरे के नाम से बैंक में खुलवाते हैं पर मोबाइल नंबर अपना देते हैं। ताकि रुपए आसानी से निकाले जा सकें। फिलहाल इनके पूरे कनेक्शन को खंगाला जा रहा है।

खबरें और भी हैं...