पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आईजीआईएमएस:बच्चों के स्पेशल वार्ड की दीवारों पर बनाए गए कार्टून, ताकि उनपर नहीं रहे बीमारी का खौफ

पटना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना की तीसरी लहर से मुकाबले की तैयारी , 65 बेड की व्यवस्था - Dainik Bhaskar
कोरोना की तीसरी लहर से मुकाबले की तैयारी , 65 बेड की व्यवस्था

कोरोना की तीसरी लहर अगर आती है और बच्चे संक्रमित होते हैं, तो उनके इलाज के लिए आईजीआईएमएमएस में व्यवस्था दुरुस्त की गई है। भर्ती बच्चों को अस्पताल उबाऊ नहीं लगे, इसके लिए बच्चों के 40 बेड के वार्ड को कार्टून कैरेक्टर का लुक दिया गया है। दीवारों पर टीवी के कार्टून कैरेक्टर छोटा भीम, हनुमान, स्पाइडर मैन, डोरेमन का चित्र बनाया गया है। वार्ड में बच्चों को आक्सीजन पाइप लगा कार्टून भी बनाया गया है।

ऐसा इसलिए कि बच्चे को ऑक्सीजन लगाना पड़े तो वह डरे नहीं। वह दीवार पर चित्र देखे तो लगे ऐसा होता है। दीवारों पर विभिन्न तरह के कार्टून अलावा जानवरों की भी तस्वीर बनाई गई है। इतना ही नहीं, बच्चों के पढ़ने और खेलने के लिए रबर के खिलौने की व्यवस्था भी की गई है। आईजीआईएमएस में बच्चों के लिए फिलहाल 65 बेड की सुविधा बहाल की गई है।

इसमें 20 बेड की पीआईसीयू और पांच बेड की एनआईसीयू भी शामिल हैं। सभी बेड पर ऑक्सीजन की व्यवस्था की गई है। मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. मनीष मंडल के मुताबिक फिलहाल 65 बेड की व्यवस्था रखी गई है। संक्रमित बच्चों की संख्या बढ़ी तो और बेड बढ़ेंगे।

अन्य अस्पतालों में भी वार्ड
पीएमसीएच में भी कोरोना पीड़ित बच्चों के लिए अलग से वार्ड तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। जहां आईसीयू और वेंटिलेटर की सुविधा रहेगी। साथ ही साथ पटना एम्स भी बच्चों के लिए अलग से व्यवस्था रखी गई है। एनएमसीएच में बच्चों के लिए अलग वार्ड की व्यवस्था की गई है।

खबरें और भी हैं...