• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Central Team Will Come In February To See The Condition Of Patna In The Examination Of Cleanliness, Work Will Have To Be Shown From November To January

स्वच्छता सर्वेक्षण:सफाई की परीक्षा में पटना का हाल देखने फरवरी में आएगी केंद्रीय टीम, नवंबर से जनवरी तक दिखाना हाेगा काम

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्वच्छता सर्वे का अंतिम चरण नवंबर से जनवरी तक चलेगा। इस दौरान सड़क, नाली, पार्क की साफ-सफाई के साथ ही कूड़ा निस्तारण के लिए किए गए प्रबंधन की जानकारी ली जाएगी। स्वच्छता सर्वेक्षण-2022 का तीसरा चरण नागरिकों को मिलने वाली सुविधाओं पर केंद्रित होगा। निकाय तीन माह तक स्वच्छता पोर्टल पर सभी जानकारी अपलोड करेंगे।

फरवरी में केंद्रीय टीम वास्तविक स्थिति की जानकारी लेने के साथ ही नागरिकों से सीधे बातचीत करेगी। इस आधार पर मार्किंग और निकायाें की रैंकिंग हाेगी। इसकाे लेकर नगर विकास विभाग के नगरपालिका स्वच्छता एवं विकास निदेशालय के संयुक्त निदेशक ने सभी निकायों के नगर आयुक्त, कार्यपालक पदाधिकारी को पत्र भेजा है। इसमें स्वच्छता सर्वेक्षण के निर्देशानुसार टूल किट भी है।

कचरा प्रबंधन : 900 अंक

कचरा प्रबंधन पर 900 अंक मिलेंगे। इसके लिए निगम द्वारा उठाए गए कचरे और वास्तविक कूड़े की बारे में तुलनात्मक अध्ययन किया जाएगा। शहर में जलजमाव, ड्रेनेज जाम, पाॅलीथिन के थैलियों के इस्तेमाल, कूड़े के बिखराव, प्लॉस्टिक के बिक्री के साथ ही सफाई कर्मियों के साथ ही शहर की व्यवस्था से जुड़े स्वयं सहायता समूह, एनजीओ, निजी एजेंसी के कर्मियों को दी जाने वाली सुविधाओं के आधार पर भी अंक दिया जाएगा। केंद्रीय टीम की ओर से कूड़े की प्रोसेसिंग और उसके निस्तारण के लिए 1200 अंक दिया जाएगा। गीले-सूखे कचरे के निस्तारण, उठाव के साथ ही कचरे की प्रोसेसिंग की स्थिति का सर्वे होगा।

खबरें और भी हैं...