JDU के शोकॉज का जवाब नहीं देंगे आरसीपी:करीबी बोले - पार्टी को यह पूछने का हक नहीं; बेटियां 2010 से दे रही आयकर

पटना4 महीने पहले
पार्टी ने उन्हें 8 पेज का एक शोकॉज नोटिस भेजा है, जिसमें साल 2010 से 2022 तक के कार्यकाल का ब्यौरा है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह जिस पार्टी के सर्वेसर्वा थे, अब वही उनसे जवाब-तलब कर रही है। यही नहीं, JDU ने आरसीपी पर अकूत संपति खड़ी करने का आरोप लगाया है। पार्टी ने उन्हें 8 पेज का एक शोकॉज नोटिस भेजा है, जिसमें साल 2010 से 2022 तक के कार्यकाल का ब्यौरा है। उनकी दोनों बेटियों और पत्नी के नाम पर कई प्लॉट लेने की बात कही गई है।

यह पहली बार है जब किसी राजनीतिक दल ने अपने ही पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष पर इस तरह का आरोप लगाया है। इसपर अभी तक आरसीपी सिंह की ओर से कोई जवाब नहीं आया है। लेकिन उनके करीबी इन आरोपों को निराधार बता रहे हैं।

'सभी खेती की जमीनें, टैक्स दिया गया है'
आरसीपी सिंह के करीबी कन्हैया सिंह ने सवाल किया कि क्या कोई जमीन पटना या दिल्ली-मुंबई जैसे मेट्रोपोलिटन शहरों में ली गई है? नहीं, यह प्लॉट गांव में हैं। खेती की जमीनें हैं। उन जमीनों की खरीद कई टुकड़ों में हुई है। कई जमीनों के बदले में जमीनें ली गई हैं। इसके लिए अकाउंट से कोई ट्रांजैक्शन नहीं किया गया है। शहर की तुलना में गांव की जमीन सस्ती होती है। कई साल पहले खरीदी गई उन जमीनों की कीमत आज के हिसाब से देखा जा रहा है।

कन्हैया सिंह के अनुसार आरसीपी सिंह की पूरी कमाई डॉक्यूमेंटेड है। टैक्स दिया गया है।
कन्हैया सिंह के अनुसार आरसीपी सिंह की पूरी कमाई डॉक्यूमेंटेड है। टैक्स दिया गया है।

कन्हैया सिंह ने कहा कि उनके ऊपर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं, वो निराधार हैं। उनकी एक बेटी आईपीएस और दूसरी अधिवक्ता है। 2010 से ही दोनों बेटियां इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करती आ रही हैं। इनके दादा भी सरकारी नौकरी में थे। उन्होंने अपनी बेटियों को जमीनें दे दी हैं। इनसे सालाना 25-30 लाख की कमाई है और यह सब डॉक्यूमेंटेड है। टैक्स दिया गया है।

आरसीपी के एक और करीबी JDU के पूर्व नेता ने बताया कि वो पार्टी को इस शोकॉज का जवाब नहीं देंगे। राजनीतिक दल ऐसे शोकॉज कर सवाल नहीं कर सकती हैं। यह काम जांच एजेंसियों का है।

JDU-BJP नेताओं ने क्या-क्या कहा
मामले में JDU के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा कि यह पार्टी का अंदरूनी मामला है। मीडिया के माध्यम से ही हमें जानकारी मिली है। किसी नेता पर यदि आरोप लगता है तो हमलोग उस नेता से पूछते हैं। यदि कोई मामला बनता है तो कार्रवाई होगी।

वहीं BJP के प्रदेश प्रवक्ता अरविंद सिंह कहते हैं कि आरसीपी सिंह पर जो आरोप लगाया गया है, यह जांच का विषय है। उनके जवाब का इंतजार करना चाहिए। यह JDU के अंदर का मामला है। इस पर दूसरे दलों का बोलना उचित नहीं है।

क्या है मामला
बता दें कि नालंदा जदयू के दो कार्यकर्ताओं ने आरसीपी सिंह की शिकायत की है। इसीपर उन्हें जवाब देने को कहा है। आरोप है कि साल 2013 से 2022 तक उन्होंने कई जमीनें खरीदी हैं और अकूत संपत्ति बनाई है।

RCP परिवार ने 9 साल में खरीदे 58 प्लॉट:JDU की ही जांच में खुलासा, प्रदेश अध्यक्ष ने लिखा-अकूत संपत्ति में अनियमितता