• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • CM Alert On Disease In Bihar; Now A Day 2 Lakh People Will Be Tested For Corona, Those Coming From Outside Will Be Monitored

बिहार में बीमारी पर CM का अलर्ट:कोरोना के खतरे को लेकर नई गाइडलाइन जारी; अब एक दिन में 2 लाख लोगों की होगी जांच, बाहर से आने वालों पर विशेष नजर

पटनाएक महीने पहले

बिहार में कोरोना से बचाव की तैयारी को लेकर शनिवार को CM नीतीश कुमार ने कई निर्देश जारी किए। इसके तहत बाहर से आने वालों की जांच अनिवार्य कर दी गई है। मुंबई, केरल और तमिलनाडु से आने वालों की जांच जरूर करने और बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन के साथ सार्वजिनक स्थानों पर अलर्ट रहने का आदेश दिया। साथ ही बच्चों को हो रहे बुखार को लेकर अस्पतालों को अलर्ट मोड पर रहने को कहा है। एक दिन में दो लाख कोरोना जांच करने का भी निर्देश दिया है।

CM नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शनिवार को 1 अणे मार्ग स्थित संकल्प में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक हुई। CM ने कोरोना जांच, टीकाकरण और बच्चों में फैल रहे वायरल से बचाव को लेकर अधिकारियों निर्देश दिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कई नई गाइडलाइन पर काम करने का निर्देश दिया है।

शनिवार को CM नीतीश कुमार की समीक्षा बैठक में कई निर्णय लिए गए हैं।
शनिवार को CM नीतीश कुमार की समीक्षा बैठक में कई निर्णय लिए गए हैं।

अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने सीएम को मेडिकल कॉलेज अस्पतालों एवं जिला अस्पतालों में वायरल बुखार से पीड़ित बच्चों एवं उनके इलाज के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सभी अस्पतालों में दवा पर्याप्त है। वायरल बुखार को लेकर विभाग पूरी तरह से एक्टिव है। उसकी सघन मॉनिटरिंग की जा रही है। अपर मुख्य सचिव ने कहा कि वायरल बुखार को लेकर लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। कोविड वैक्सीनेशन का काम शहरी क्षेत्रों में लगभग शत-प्रतिशत पूरा हो गया है। अगर कोई बचा हैं तो उनका टीकाकरण भी जल्द करा लिया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में भी टीकाकरण का काम तेजी से किया जा रहा है।

CM ने कहा- जांच और वैक्सीनेशन बढ़ाया जाए

CM ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में जिनका टीकाकरण बचा है, उनका जल्द से जल्द टीकाकरण कराएं। ग्रामीण क्षेत्रों में भी विशेष अभियान चलाकर टीकाकरण में तेजी लाएं। टीकाकरण ही कोरोना से बचाव का कारगर उपाय है। CM ने कहा लोग मास्क का प्रयोग हर हाल में करें। यह कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ-साथ अन्य वायरल बीमारियों से बचाव में भी उपयोगी है।

जागरूकता पर दिया जाए जोर

नीतीश कुमार ने कहा कि माइक से प्रचार-प्रसार कर लोगों को सचेत एवं जागरूक करते रहें। बच्चों में वायरल बुखार को लेकर अलर्ट और एक्टिव रहें। वायरल बुखार के लक्षणों पर भी नजर बनाए रखें। बच्चों के इलाज में किसी प्रकार की कोताही नहीं हो। अस्पतालों में दवा की पर्याप्त उपलब्धता रखें। वायरल बुखार को लेकर विभाग द्वारा उठाए जा रहे कदमों के संबंध में मीडिया के माध्यम से लोगों को जानकारी दें।

खबरें और भी हैं...