बिहार NDA में सब ठीक नहीं!:कोइलवर पुल के उद्घाटन में गठबंधन के नेताओं को न्योता नहीं, पोस्टर में सिर्फ BJP नेता

पटना3 महीने पहले

बिहार NDA में सब ठीक नहीं चल रहा है। एक बार फिर से केंद्र सरकार के कार्यक्रम से गठबंधन के नेता गायब हो गए हैं। वीर कुंवर सिंह के जन्म शताब्दी पर आयोजित कार्यक्रम के बाद अब कोइलवर पुल के उद्घाटन समारोह में भी उन्हें आमंत्रित नहीं किया गया है। पोस्टर पर भी सिर्फ BJP नेताओं को जगह दी गई है।

दरअसल, कल यानी 14 मई को पुल का उद्घाटन होना है। 266 करोड़ की लागत से NH-30 के कोइलवर में 3 लेन डाउन स्ट्रीम पुल का उद्घाटन केंद्रीय सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी करेंगे।

CM समेत JDU के किसी नेता को आमंत्रण नहीं

इस लोकार्पण कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के अलावा आरके सिंह, बिहार विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह, दोनों डिप्टी सीएम रेणु देवी और तार किशोर प्रसाद मौजूद रहेंगे। इतना ही नहीं BJP कोटे से पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन, कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह, भाजपा सांसद रामकृपाल यादव, BJP विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह, राजद विधायक किरण देवी और मनेर से राजद विधायक भाई वीरेंद्र को बुलाया गया है।

पोस्टर में सिर्फ BJP नेता

वहीं, इस कार्यक्रम को लेकर पटना के अलग-अलग हिस्सों में पोस्टर लगाए गए हैं। इस पोस्टर के माध्यम से इस उद्घाटन कार्यक्रम को पूरी तरह BJP का कार्यक्रम बना दिया गया है। इस सरकारी कार्यक्रम के पोस्टर से राज्य के CM को गायब कर दिया गया है।

पोस्टर में PM नरेंद्र मोदी, नितिन गडकरी, आरके सिंह की बड़ी तस्वीर लगाई गई है। इसके अलावा इसमें पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष JP नड्‌डा, बिहार के पथ परिवहन मंत्री नितिन नवीन और प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल को जगह दी गई है।

पिछले साल भी हुआ था वि‌वाद, तब बैकफुट पर आई थी BJP

पिछले साल भी आरा में एक ओवरब्रिज के उद्घाटन समारोह को लेकर सियासत हुई थी। पिछले 22 अगस्त में पूर्वी गुमटी रोड पर बने ओवरब्रिज के उद्घाटन कार्यक्रम के पोस्टर से CM नीतीश कुमार की तस्वीर गायब थी। इस मामले का विवाद बढ़ने पर BJP को बैकफुट पर आना पड़ा था।

JDU ने साधी चुप्पी

दैनिक भास्कर ने इस मामले पर JDU का भी पक्ष जानना चाहा। पार्टी के नेता इस मामले पर फिलहाल कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। सभी एक-दूसरे के पाले में गेंद डाल रहे हैं। JDU के निखिल मंडल ने कहा कि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नहीं है।

22 जुलाई 2017 को हुआ था पुल का शिलान्यास

कोईलवर में बने पुराने अब्दुल बारी पुल के उत्तर में ही 1.528 मीटर लंबे और 30 मीटर चौड़े सिक्स लेन पुल का निर्माण किया गया है। इस पुल का शिलान्यास 22 जुलाई 2017 को आरा के सांसद और केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने किया था। नए पुल पर आवागमन शुरू होने से पुराने अब्दुल बारी सिद्दीकी पुल पर वाहनों का दबाव कम हो जाएगा।