जहरीली शराब से मौत मामले में एक्शन मोड में नीतीश:CM ने शराबबंदी को लेकर की बैठक, 16 नवंबर को होगी विस्तृत समीक्षा

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। - Dainik Bhaskar
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।

गोपालगंज और बेतिया में जहरीली शराब से लोगों की मौत के बाद CM नीतीश कुमार ने शुक्रवार की शाम आवास पर एक हाइलेवल की बैठक की। जहरीली शराब से मुख्यमंत्री हाल की घटनाओं पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए अधिकारियों को कई टास्क दिए। उन्होंने कहा कि गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों और कर्मियों को चिन्हित कर उन पर सख्त कार्रवाई करें।

शराबबंदी को सरकार ने सख्ती से लागू किया है। जो भी इसे कमजोर करने में लगे हैं, उन्हें पहचान कर उन पर कठोर कार्रवाई करें। CM ने छठ महापर्व के बाद 16 नवंबर को शराबबंदी को लेकर विस्तृत समीक्षा बैठक की घोषणा की।

छठ के बाद शराबबंदी की होगी समीक्षा

हर दूसरे दिन बैठक का निर्देश

CM नीतीश कुमार ने बैठक में हिदायत दी कि मद्य निषेध विभाग एवं पुलिस मुख्यालय हर दूसरे दिन बैठक कर इसकी समीक्षा करे। हाल के दिनों में जहां-जहां घटनायें घटी हैं, वहां दोषी लोगों पर सख्त कार्रवाई हो। वहीं, उन्होंने कहा कि एक बार फिर से लोगों को जागरूक करने के लिये व्यापक जनजागरूकता अभियान की जरूरत है। प्रमंडल स्तर पर जनजागरूकता अभियान प्रारंभ करने की रूपरेखा तैयार करें। पूर्व की तरह सभी लोगों को एक बार फिर से शपथ दिलानी है।

महिलाओं की मांग पर की गई शराबबंदी

नीतीश कुमार ने इस बैठक में कहा कि शराबबंदी महिलाओं की मांग पर की गयी है। महिलाओं को फिर से प्रेरित करें, ताकि गड़बड़ करने वालों की पहचान हो सके। राज्य के सभी सरकारी कार्यालयों, सभी सरकारी आवासों में शराबबंदी के पक्ष में बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के खिलाफ तथा जल-जीवन- हरियाली के संबंध में दीवार लेखन एवं अन्य प्रचार माध्यमों से प्रचार-प्रसार कराएं। बैठक में मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन मंत्री सुनील कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण, पुलिस महानिदेशक एस०के० सिंघल, गृह-सह-मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...