मानसून सत्र का चौथा दिन:बारिश के चलते विपक्ष ने 'अग्निपथ' पर विधानसभा के अंदर दिया धरना; केंद्र के खिलाफ हुई नारेबाजी

पटना3 महीने पहले
बारिश के कारण विपक्षी दलों ने विधानसभा भवन के अंदर धरना दिया।

बिहार विधान मंडल मानसून सत्र के चौथे दिन की कार्रवाई गुरुवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। आइए जानते हैं आज सत्र के दौरान क्या-क्या हुआ...

बारिश के कारण विपक्षी दलों ने विधानसभा भवन के अंदर धरना दिया। सभी विधायक विधानसभा अध्यक्ष के चैंबर के बाहर धरना पर बैठ गए। इस दौरान भाकपा माले द्वारा अग्निपथ योजना के विरोध में जमकर प्रदर्शन किया गया।

वहीं, माले विधायक मनोज मंजिल ने कहा कि सरकार युवाओं के साथ खिलवाड़ कर रही है। जब तक सदन में हमारी बातों को नहीं सुना जाएगा और इस पर चर्चा नहीं होगी हम प्रदर्शन करते रहेंगे।

इधर, संसदीय मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि जब तक विपक्ष के सदस्य सदन में नहीं होते तब तक सत्ता पक्ष को भी एक अधूरापन सा लगता है। संसदीय मंत्री ने कहा कि विपक्ष के सदस्य से आग्रह है कि सदन में आए।

बता दें कि मंगलवार को सदन से विपक्ष के बहिष्कार के साथ-साथ सत्ता पक्ष के घटक दलों की गैरमौजूदगी के कारण विधानसभा की कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा था। JDU ने स्पीकर विजय कुमार सिन्हा की फजीहत करा दी थी, इसको लेकर काफी देर तक सियासी माहौल भी गरम रहा था।

मंगलवार जब बिहार विधानसभा की कार्यवाही लंच ब्रेक के बाद शुरू हुई तो सदन में उत्कृष्ट विधायक की परंपरा शुरू करने को लेकर विशेष बहस शुरू हुई। विधानसभा की कार्यवाही में पहले से ही इस विशेष चर्चा का जिक्र था। लेकिन, सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद विपक्ष का एक भी विधायक सदन में नहीं पहुंचा।

अग्निपथ योजना को लेकर विपक्ष अपनी पुरानी मांग पर अड़ा हुआ है।
अग्निपथ योजना को लेकर विपक्ष अपनी पुरानी मांग पर अड़ा हुआ है।

जेडीयू का भी कोई विधायक सदन के अंदर मौजूद नहीं है। ट्रेजरी बेंच पर जेडीयू के तीन मंत्री लेसी सिंह, सुनील कुमार और शीला मंडल सदन में मौजूद थे। लेकिन कुछ ही देर में उनके पास मैसेज पहुंचा और तीनों मंत्री भी सदन से निकल गये। सदन में चर्चा हो रही थी और बाहर जेडीयू के विधायक मंत्री श्रवण कुमार के साथ बैठक कर रहे थे। वे सदन के अंदर जाने के बजाय श्रवण कुमार के कक्ष में जमे रहे।

इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी पहुंचे लेकिन हाउस में नहीं गये। नीतीश ने अपने सहयोगी मंत्रियों विजय चौधरी और श्रवण कुमार के बीच बैठक की थी। JDU के एक नेता ने कहा कि पार्टी ने बीजेपी को साफ साफ मैसेज दिया है कि सदन में वही होगा जो नीतीश कुमार चाहेंगे। बीजेपी या विधानसभा अध्यक्ष के कहने से सदन नहीं चलेगा।