सावधान! पॉजिटिव कम आएं तो हल्के में न लें:उतार चढ़ाव के बाद अचानक बढ़ता है संक्रमण, बिहार में 7 दिन बाद फिर आए 6 नए मामले

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के आंकड़ों पर नहीं जाएं। आंकड़ों में यह ऐसे ही आंख मिचौली करता है। पहली और दूसरी लहर में ऐसा ही देखा गया है। आंकड़े कम ज्यादा होते रहते हैं, लेकिन अचानक से जब बढ़ता है तो फिर जल्दी नीचे नहीं आता है। बिहार में 7 दिन बाद 6 नए पॉजिटिव केस आए हैं। इसके पहले 5 दिसंबर को 6 नए मामले आए थे। कोरोना वायरस एक्टिव हो गया है और इसे हल्के में लेना घातक हो सकता है। मास्क और सोशल डिस्टेंस की जागरुकता के साथ वैक्सीनेशन की रफ्तार ही इस खतरनाक वायरस से बचा सकती है।

जांच घटे तो घट गए आंकड़े

बीते 24 घंटे में 1,07,356 लोगों की कोरोना जांच हुई है। इनमें 6 नए मामले आए हैं। पटना में 3 और पूर्वी चंपारण में एक, मुंगेर में एक और समस्तीपुर में भी एक नया मामला आया है। अब तक बिहार में 7,26,325 लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं, इनमें 7,14,149 लोगों ने संक्रमण को मात दी है। अब तक कुल 12,091 लोगों की इस खतरनाक वायरस से मौत हुई है। इसमें रविवार को IGIMS में हुई एक महिला की मौत का आंकड़ा भी शामिल है।

24 घंटे में 2 संक्रमित हुए ठीक, अब 84 एक्टिव मामले

सोमवार को 2 संक्रमितों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसके बाद अब एक्टिव संक्रमितों की संख्या 84 हो गई है। राज्य में रिकवरी रेट अब 98.32 प्रतिशत हो गई है। एक्सपर्ट का कहना है, 'कोरोना का संक्रमण ऐसे ही आंख मिचौली करता है। इससे सावधान रहना होगा। यह कब तेजी से बढ़ जाएगा, कोई भरोसा नहीं होता है। इसका नेचर ही बदलाव का होता है। यह कभी कम और ज्यादा हो जाता है। पहली और दूसरी लहर में वायरस ने ऐसे ही चकमा दिया है।'

खबरें और भी हैं...