पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

NMCH में मुर्दों के बीच इलाज:24 घंटे से 3 वार्डों में पड़ी थी कोरोना संक्रमिताें की लाश, बगल में बेड पर पड़े जिंदा मरीजों की फूल रही थी सांस

पटना8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मरीजों के परिजन ने पप्पू यादव को दी सूचना, इसके बाद आननफानन में हटाई गई लाश - Dainik Bhaskar
मरीजों के परिजन ने पप्पू यादव को दी सूचना, इसके बाद आननफानन में हटाई गई लाश

नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (NMCH) में मुर्दों के बगल में जिंदा मरीजों का इलाज होता है। कोरोना से मरने वालों का शव 24 घंटे तक ऐसे वार्ड में पड़ा रहता है। सोमवार को भी ऐसा ही हो रहा था। तीन वार्डों में कोरोना संक्रमितों की लाश पड़ी थी और बगल के बेड पर जिंदा मरीजों की सांस फूल रही थी। परिजनों ने NMCH की इस मनमानी की शिकायत पूर्व सांसद पप्पू यादव को दे दी। इसके बाद हड़कंप मच गया। पूर्व सांसद हॉस्पिटल पहुंच गए और कोरोना के उन 3 वार्डों में गए जहां 24 घंटे से जिंदा मरीजों के बगल में लाश पड़ी थी।

NMCH में नहीं होगा सुधार

NHCH में सुधार नहीं हो रहा है। आए दिन मनमानी के मामले सामने आ रहे हैं। कभी मौत के बाद लापरवाही का आरोप लग रहा है तो कभी ऑक्सीजन नहीं देने का आरोप लगा है। मुर्दों के बीच इलाज का भी मामला अब व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रहा है। पूर्व सांसद पप्पू यादव का कहना है कि NMCH की व्यवस्था सुधरने वाली नहीं है। यहां मरीजों के साथ मनमानी की जा रही है। कोरोना से मरने वालों की लाश परिजनों को नही दी जा रही है। 24 घंटे तक लाश वार्ड में पड़ी रहती है और परिजनों को इसकी सूचना तक नहीं दी जाती है। शव के पास ही बेड पर मरीजों का इलाज चलता है जो काफी खतरनाक है।

ऐसे पड़ी रहती है संक्रमितों की लाश

NMCH में बार बार आ रहे मामलों के बाद भी सुधार नहीं हो रहा है। परिजनों का कहना है कि वह जिंदा लोगों की भी जान लेने पर उतारू है। परिजनों का कहना है कि तीन वार्ड में लाश पड़ी थी उसे कोई निकालने वाला नहीं था। ऐसे में परिजनों को अन्य मरीजों की हालत गंभीर होने की चिंता सता रही थी। बार बार कहने के बाद भी वार्ड से लाश नहीं हटाया गया तो उन्होंने तत्काल पूर्व सांसद पप्पू यादव को फोन पर इसकी सूचना दी। पप्पू यादव के पहुंचने के बाद अस्पताल हरकत में आया और लाशों को 24 घंटे बाद हटाया जा सका। पूर्व सांसद का कहना हे कि कई लाशें केवल तीन वार्ड में कल से पड़ी हुई थी। अस्पताल प्रशासन काफी लापरवाही कर रहा है। 24 घंटे तक संक्रमितों का शव जिंदा लोगों के बीच पड़ा रहना बड़ा मामला है। मृतकों के परिजनों को डेड बॉडी दी नहीं जाती है। खुद से कोई ले जाने की अनुमति नहीं है। ऐसे में परिजन क्या करें। कोई सुनने को तैयार नहीं। पप्पू यादव ने हेल्थ मैनेजर से मौत के बाद तत्काल शव को बाहर करने की मांग की है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

और पढ़ें