कोरोना के बाद अब पटना में डेंगू के हाट स्पॉट:राजधानी में 270 लोगों में डेंगू की पुष्टि, तेजी से बढ़ रहा संक्रमण, रडार पर कई मोहल्ले

पटना11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले नहीं हुई फॉगिंग, केस मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग करा रहा फॉगिंग

पटना में कोरोना के बाद अब डेंगू का हाट स्पॉट तैयार हो रहा है। राजधानी में 12 से अधिक मोहल्ले ऐसे हैं, जहां तेजी से संक्रमण के मामले आ रहे हैं। अब तक पटना में 270 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। आंकड़ों में सरकारी अस्पतालों का मामला अधिक है। बार-बार आदेश के बाद भी प्राइवेट अस्पताल जानकारी नहीं दे रहे हैं। संक्रमण के बढ़ते मामले के पीछे सफाई और फॉगिंग की कमी है। संक्रमण की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य विभाग फॉगिंग करा रहा है।

पटना में डेंगू का मामला तेजी से बढ़ रहा है। एक दिन में कम से कम 5 से 7 नए मामले आ रहे हैं। अब तक जितने भी संक्रमित आए हैं उनको लेकर स्वास्थ्य विभाग में प्लान चल रहा है। पटना में 12 से अधिक मोहल्ले हाट स्पॉट की तरह हैं। यहां संक्रमण का मामला तेजी से बढ़ रहा है।

पटना की सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह का कहना है कि जो भी मामले आ रहे हैं, उसमें फॉगिंग से लेकर दवा का छिड़काव कराया गया है। 24 घंटे में पटना में 7 नए संक्रमण के मामले आए हैं।

पटना में सीएस ऑफिस कैंपस में लगी गंदगी। यहां भी डेंगू का खतरा है।
पटना में सीएस ऑफिस कैंपस में लगी गंदगी। यहां भी डेंगू का खतरा है।

संक्रमण मिलने के बाद 500 मीटर तक अलर्ट

डेंगू के संक्रमण की पुष्टि के बाद संबंधित इलाके में अलर्ट कर दिया जा रहा है। संक्रमण की पुष्टि होने के बाद संक्रमित के घर के आसपास 500 मीटर के एरिया को हाट स्पॉट माना जा रहा है। इन एरिया में स्वास्थ्य विभाग की टीम लगा दी जा रही है और फॉगिंग के साथ दवाओं का छिड़काव कराया जा रहा है। अगर संक्रमण की पुष्टि होने से पहले ही फॉगिंग के साथ दवा का छिड़काव करा दिया जाए तो समस्या नहीं होगी। नगर निगम की मनमानी के कारण फॉगिंग नहीं हो रही है, इस कारण से ही पटना में तेजी से डेंगू का मामला बढ़ रहा है। जिस मोहल्ले में मामला आ रहा है, उसे हाट स्पॉट मानकर स्वास्थ्य विभाग आगे कोई केस नहीं आए इस पर एक्शन मोड में काम कर रहा है।

प्राइवेट अस्पताल और पैथौलॉजी दबा रहे डेंगू का मामला

पटना में प्राइवेट अस्पताल और निजी पैथोलॉजी डेंगू के संक्रमण को दबा दे रहे हैं। वह इस मामले को सरकार तक पहुंचने ही नहीं दे रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से बार बार जानकारी मांगी जा रही है, लेकिन निजी अस्पताल और पैथोलॉजी कोई जानकारी नहीं दे रहे हैं।

सिविल सर्जन पटना डॉ. विभा कुमारी सिंह का कहना है कि बार-बार निर्देश दिया जा रहा है, इसके बाद भी डेंगू की जानकारी नहीं दी जा रही है। पटना में एक दो हॉस्पिटल ने कुछ रिपोर्ट दी है, लेकिन जहां लगातार जांच हो रही है और इलाज हो रहा है वहां से कोई सूचना नहीं दी जा रही है। इस कारण से संबंधित मरीजों के आसपास कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हो पा रही है। सिविल सर्जन का कहना है कि फिर आदेश जारी किया गया है, जिससे प्राइवेट हॉस्पिटल के साथ निजी पैथोलॉजी से डेंगू की जानकारी मिल सके।