बिहार में लड़कों की लूट:यहां आज भी उठा लिए जाते हैं दूल्हे; जानिए ऐसे विवाह की कहानी...

बिहार3 महीने पहलेलेखक: प्रवीण कुमार सिंह

बिहार के नवादा जिले में नीतीश कुमार की भाई के साले ने रिश्तेदारों के साथ मिलकर अपहरण कर लिया। नीतीश के परिवार ने थाने में FIR कराई। उसी रात भाई के साले ने अपनी साली से जबरन शादी करा दी। पुलिस ने नीतीश को बरामद कर लिया, लेकिन कुछ देर बाद दूल्हन के साथ नीतीश की फोटो आ गई।

तीन साल पहले पकड़ौआ विवाह पर जबरिया जोड़ी नाम की फिल्म आई थी। इसमें एक डायलॉग था- जोड़ियां तीन तरह से बनती हैं। हिम्मत वालों की अरेंज जोड़ी, किस्मत वालों की लव जोड़ी और दहेज मांगने वालों की जबरिया जोड़ी। लेकिन हर बार दहेज इसके पीछे कारण नहीं होता है।

1970 के बाद तेजी से बिहार में पकड़ौआ विवाह होने लगे। हालांकि, 2000 के बाद इसमें कमी आने लगी, लेकिन पूरी तरह से बंद नहीं हुए। इस साल मई में भी पकड़ौआ विवाह के दो मामले आ चुके हैं। 2020 से अब तक 50 से अधिक पकड़ौआ विवाह सरकारी रिकॉर्ड में दर्ज हुए। इससे कई गुना मामले सामाजिक दबाव में थाने तक आए ही नहीं। जानिए ... इसकी शुरुआत कैसे हुई, कैसे बिहार में कुख्यात हो गया।