पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अधिसूचना जारी:दाल स्टॉक सीमा की अधिसूचना से खाद्यान्न व्यापारियों में नाराजगी

पटना16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कंफेडरशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) बिहार ने कहा है कि थोक विक्रेताओं के लिए दालों की स्टॉक सीमा 200 टन और खुदरा विक्रेताओं के लिए 5 टन निर्धारित किए जाने से खाद्यान्न व्यापारियाें में नाराजगी व्याप्त है। कैट के प्रदेश अध्यक्ष अशोक कुमार वर्मा अाैर महासचिव डाॅ. रमेश गांधी ने केंद्रीय उपभोक्ता, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल काे पत्र भेजकर उक्त अधिसूचना को भेदभावपूर्ण बताते हुए योग्यता के आधार पर तत्काल वापस लेने का आग्रह किया है। कैट के चेयरमैन कमल नोपानी ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा 2 जुलाई को यह अधिसूचना जारी की गई थी।

देशभर में लगभग 5 लाख व्यापारी खाद्यान्न का व्यवसाय करते हैं और 23 लाख से अधिक लोगों को सामान लदान और उतारने से रोजगार प्रदान करते हैं। लगभग 5 लाख लोग अप्रत्यक्ष रूप से खाद्यान्न व्यापार से अपनी आजीविका चलाते हैं। देश में विभिन्न दालों का वार्षिक उत्पादन लगभग 256 लाख टन है और लगभग 20 लाख टन दाल आयात होती है। दाल कारोबार लगभग 140 लाख करोड़ रुपए का है। 2017 में एक अधिसूचना के माध्यम से सरकार ने यह अनिवार्य किया था कि सरकार के पोर्टल पर 6 प्रकार की दालों, मसूर, चना, तूर, उड़द, मूंग और काबली चना की स्टॉक सीमा अपलोड की जाएगी, जिसका पालन किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...