डॉ. रेखा कुमारी उच्च शिक्षा की निदेशक नियुक्त:3 वर्षों के लिए मिली जिम्मेदारी, बोलीं- विश्वविद्यालयों में कई तरह के जरूरी बदलावों पर होगा फोकस

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉ. रेखा कुमारी, निदेशक, उच्च शिक्षा। - Dainik Bhaskar
डॉ. रेखा कुमारी, निदेशक, उच्च शिक्षा।

डॉ. रेखा कुमारी को एक बार फिर से सरकार ने उच्च शिक्षा निदेशक के पद पर नियुक्त किया है। इस बारे में औपचारिक अधिसूचना मंगलवार को जारी कर दी गई। डॉ. रेखा कुमारी का इस पद पर पिछला कार्यकाल कुछ समय पहले खत्म हुआ था। डॉ. रेखा कुमारी एएन कॉलेज में जंतु विज्ञान की प्राध्यापक हैं। शिक्षा विभाग के उच्च शिक्षा निदेशक पद पर उनकी प्रतिनियुक्ति की गयी है। यह नियुक्ति तीन साल के लिए की गई है।

विश्वविद्यालयों में कई तरह के सुधार कार्य होंगे
भास्कर से बात करते हुए डॉ. रेखा कुमारी ने कहा कि वे कई तरह के सुधारात्मक कार्य विश्वविद्यालयों में करना चाहती है। अपनी प्राथमिकता बताते हुए कहा कि कॉलेज की बेटियों की पढ़ाई को लेकर शुल्क माफी में काफी गड़बड़ियां हैं इसे वह दूर करेंगी। दूसरी प्राथमिकता बताया कि नैक एग्रीडेशन में तीव्रता लाएंगी। वे विश्वविद्यालयों- कॉलेजों से पूछेंगी की उनकी जरूरतें क्या-क्या हैं? उच्च शिक्षा संस्थान स्टैंडर्ड तरीके से चले इसके लिए वे भरपूर कोशिश करेंगी।

सरकार से अनुमोदन लेना जरूरी
उन्होंने कहा कि उनका फोकस इस पर होगा कि किसी भी कोर्स का अनुमोदन सरकार से जरूर लें। विभाग के पास इसकी पूरी जानकारी रहनी चाहिए कि कोर्स किस तरह से चलाया जा रहा है, उसके लिए स्थान, उसकी फीस, उसके लिए शिक्षक सारी जानकारी विभाग को देनी जरूरी है। किस ऑर्डिनेंस के तहत कोर्स को चलाया जा रहा है। ये जानना और समझना विभाग का अधिकार का भी। कई बार विश्वविद्यालय समझ लेते हैं कि राजभवन से स्वीकृति मिल जाने के बाद सरकार को विस्तृत जानकारी देना विश्वविद्यालय या कॉलेज जरूरी नहीं समझते। यह गलत है। सरकार से अनुमोदन लेना इसलिए जरूरी है कि सरकारी की लाभकारी योजनाओं को लाभ स्टूडेंट को मिल रहा है कि नहीं इसकी भी पड़ताल की जा सके।