बरती गई सख्ती:मतगणना स्थल के पास समर्थकों की भीड़ के कारण अव्यवस्था, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

हाजीपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मतगणना केन्द्र के बाहर लगी लोगों की भीड़ - Dainik Bhaskar
मतगणना केन्द्र के बाहर लगी लोगों की भीड़
  • पदाधिकारियों के निर्देश पर जिला पुलिस बल पूरी तरह से अलर्ट दिखी

हाजीपुर के महिला आईटीआई कॉलेज में बने मतगणना केंद्र पर घंटों इंतजार के बाद भी किसी भी पंचायत के निर्वाची प्रत्याशियों का जीत या हार की घोषणा नहीं होने से समर्थकों की बेचैनी बढ़ गई। संध्या चार बजे तक एक भी प्रत्याशी की जीत या हार की अधिकारिक घोषणा नहीं होने पर मतगणना परिसर से बाहर बैठे समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। समर्थकों का हंगामा देखकर पुलिस बल को कई बार डंडे भांजने पड़े। लोगों को शांत कराने में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ा। वहीं मतगणना स्थल के बाहर अपने-अपने प्रत्याशियों का इंतजार कर रहे समर्थकों घंटों इंतजार करते रहे। जैसे-जैसे चुनाव परिणाम की अधिकारिक घोषणा होने में विलंब हो रही थी, वैसे समर्थकों की भीड़ मतगणना स्थल की ओर बेकाबू होकर बढ़ रहा था। जिससे शांत कराने के लिए पुलिस को बल का प्रयोग करना पड़ा।
दो प्रखंड का एक दिन मतगणना होने से बढ़ी समर्थकों की भीड़
मालूम हो कि पंचायत चुनाव जिले में दूसरे चरण से शुरू की गई थी। दूसरे चरण में हाजीपुर प्रखंड क्षेत्र के 23 पंचायतों में चुनाव के बाद मतगणना कराया गया था, जबकि तीसरे चरण में जंदाहा के 21 पंचायतों में मतगणना महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में हुई थी। इन दोनों चरणों में खामियों को दूर नहीं करते हुए जिला प्रशासन ने चौथे चरण में जिले के दो प्रखंडों में हुए चुनाव का मतगणना एक ही कराने का काम किया जिससे मतगणना स्थल पर पूरे दिन हंगामा होते रहा। दो प्रखंडों में हुए चुनाव के बाद मतगणना एक ही दिन कराये जाने से प्रत्याशी और समर्थकों की अत्यधिक भीड़ उमड़ पड़ी। मतगणना स्थल के आसपास के इलाका पूरी तरह से सील था। बावजूद भी गुरुवार को मतगणना स्थल पर पहले हुए दो चरणों का मतगणना में प्रतिनियुक्त से कम पुलिस को प्रतिनियुक्त जाने से पुलिस बल को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।
हर स्थिति से निपटने के लिए मुस्तैद रही पुलिस
मतगणना स्थल पर आवश्यकता के अनुरुप पुलिस बल की संख्या कम होने के बावजूद भी पुलिस कर्मियों ने अपना फर्ज बखूबी निभाया। जिला निर्वाची पदाधिकारी सह डीएम उदिता सिंह और एसपी मनीष कुमार के निर्देशानुसार जगह-जगह दंडाधिकारी और पुलिस पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में पुलिस बल के जवान मुस्तैद थे। मतगणना केन्द्र पर जिला परिषद सदस्य, मुखिया, समिति, वार्ड सदस्य की मतगणना अलग-अलग हॉल में तथा पंच व सरपंच की मतगणना एक ही हॉल में कराई जा रही थी।

गुरुवार की सुबह 8 से मतगणना समाप्ति तक वोटों की गिनती होती रही। मतगणना स्थल पर जाने के लिए प्रत्याशी और समर्थकों की भीड़ सुबह लगभग 6 बजे जुटनी शुुरू हो गई थी। जिससे डीआरसीसी से गांधी सेतु पाया नंबर 8 तक गाड़ी की लंबी लाईन लगी हुई थी। याता यात व्यवस्था को सुचारू रूप से करने के लिए जिला प्रशासन की सख्ती निर्देश का असर सड़कों पर देखने को मिला। मतगणना से पूर्व सदर एसडीओ ने मतगणना स्थल पर आने और जाने के लिए तैयार रोड मैप के अनुसार वाहनों की आवागमन अनुमति दी जा रही थी। जिला पुलिस बल वरीय पदाधिकारियों के निर्देशानुसार पूरी तरह से अलर्ट दिखी।

सर्वर में खराबी होने के कारण जीत के बाद भी प्रत्याशियों को नहीं दिया गया सर्टिफिकेट

लालगंज व चेहराकलां के 33 ग्राम पंचायतों की मतो कि गिनती देर रात तक जारी होते रहा। हालांकि बिहार राज्य निर्वाचन आयोग के सर्वर में खराबी होने के कारण देर शाम तक एक भी निर्वाचित उम्मीदवार को सर्टिफिकेट नहीं दिया गया है। सूत्रों के अनुसार जिला परिषद क्षेत्र संख्या- 6 से रिंकी कुमारी, जिप क्षेत्र- 9 से मनोज कुमार यादव व जिप क्षेत्र-10 से निधि झा निर्वाचित हुए है। जिप क्षेत्र 6 पर निर्वाचित घोषित किए जाने के बाद प्रतिद्वंद्वी ने री काउंटिंग की मांग की।

महुआ एसडीओ ने दुबारा काउंटिंग की अनुमति दी। जिसमें रिंकी कुमारी निर्वाचित हुईं। वहीं चेहराकला प्रखंड में मुखिया पद से विशुनपुर अर्रा पंचायत से पम्पी कुमारी, चेहराकला से ब्रह्मदेव राय, मंसूरपुर हलैया से शंभू शरण राय, अवाकरपुर से रामदीप कुमार, मथना मिलिक नंद किशोर राय, खाजे चांद छपड़ा से साकिब अनवर, अख्तियारपुर सेहान से ब्रजेश कुमार, शाहपुर खुर्द से रिंकू देवी, करहिया बुजुर्ग से करीना राय, रसूलपुर फतह से वीणा देवी, छौड़ाही से उषा देवी एवं बस्ती सरसीकन से मुन्नी देवी प्रतिद्वंद्वी को हराकर निर्वाचित हुईं।

वही लालगंज के सररिया से उर्मिला राय, युसुफपुर से शीला देवी, शाहदुल्लापुर से पिंकी कुमारी, जलालपुर से सुधांशु कुमार, मानपुर मोटालुक घटारो डी से शशिकांत गाेविंद, पुरखौली से उमाशंकर पासवान, रीखर से पुष्पलता देवी, पुरनटांड़ से गायत्री देवी, पुरैनिया से इंदू देवी, लक्ष्मीनारायणपुर रामप्रवेश सहनी, एतवारपुर सिसौला से दिनेश महतो निर्वाचित हुए है। हालांकि 10 पंचायतों का रिजल्ट खबर लिखे जाने तक नहीं मिल सका है।

33 पंचायतों के रिजल्ट देर शाम तक होते रहा जारी

नगर क्षेत्र के हरिवंशपुर स्थित डीआरसीसी भवन के पास महिला आईटीआई कॉलेज में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच लालगंज प्रखंड के 21 एवं चेहराकला प्रखंड के 12 पंचायतों के छह पदों के लिए मतगणना सुबह 8 बजे से शुरू हुआ । प्रत्याशी और उनके अभिकर्ता मतगणना स्थल में प्रवेश करते रहें और उनके समर्थक डीआरसीसी के आसपास खड़े होकर परिणाम जानने को बेताब रहे। मुख्य द्वार से लेकर मुख्य सड़क तक सुरक्षा की चाक - चौबंद व्यवस्था रही।

शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए रहे तत्पर
महिला आईटीआई कॉलेज में मतगणना केंद्र के बाहर गहमागहमी का माहौल दिखा। मतगणना परिसर में जैसे ही एसपी मनीष पहुंचे वैसे ही मतगणना परिसर में लोगों की भीड़ देख पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को भीड़ की नियंत्रण करने की बात कही । हुजूम को हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा । कई चोटिल हो गए। बाद में मुख्य गेट पर एक एक लोगों की जांच कर प्रवेश करने की अनुमति दिए। ​​​​​​​

देर शाम तक नहीं मिल पाया सर्टिफिकेट
जिला परिषद, मुखिया, समिति, सरपंच, वार्ड व पंच पदों से निर्वाचित उम्मीदवारों को देर शाम तक सर्टिफिकेट नहीं मिलने से समर्थकों में आक्रोश दिखा। निर्वाचित प्रत्याशी अपने सर्टिफिकेट लेकर ही जाने के मुंड दिखे, लेकिन आयोग के सर्वर में खराबी होने के कारण निर्वाचित का रिजल्ट नहीं जारी किया गया और वेबसाइट से सर्टिफिकेट नहीं डाउनलोड हो सका है। सूचना पर डीएम उदिता सिंह व एसपी मनीष मतगणना केंद्र पहुंचे।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...