• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Duty Of 10 ADGs And Two IGs Were Imposed To Prevent People From Drinking Alcohol, Including The Chief Of The Anti Terrorist Squad.

ऑपरेशन न्यू ईयर:शराबियों को रोकने के लिए 10 एडीजी व दो आईजी की ड्यूटी लगाई गई, इनमें आतंकवादी निरोधी दस्ते के प्रमुख भी शामिल

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शराबबंदी को लेकर बड़ा ऑपरेशन, पंचायत चुनाव से वापस लौटी फोर्स भी लगाई जाएगी, पुलिस मुख्यालय ने इस बाबत आदेश जारी किया - Dainik Bhaskar
शराबबंदी को लेकर बड़ा ऑपरेशन, पंचायत चुनाव से वापस लौटी फोर्स भी लगाई जाएगी, पुलिस मुख्यालय ने इस बाबत आदेश जारी किया

राज्य में शराबंबदी को सख्ती से लागू कराने के लिए ऑपरेशन न्यू ईयर की बड़ी तैयारी है। पुलिस मुख्यालय ने 10 एडीजी और 2 आईजी को इस ऑपरेशन की कमान सौंप दी है। बिहार में पहली बार शराब के खिलाफ किसी ऑपरेशन में एडीजी स्तर के 10 अफसरों को एक साथ लगाया गया है। खासबात यह है कि इस ऑपरेशन में एसटीएफ,एटीएस, सीआईडी और स्पेशल ब्रांच के एडीजी भी लगाए गए हैं।

राज्य में शराब के खिलाफ 15 दिसंबर से ऑपरेशन न्यू ईयर की तैयारी है। यह ऑपरेशन जनवरी के पहले पखवारे तक जारी रहेगा। माना जा रहा है कि बिहार में शराब के खिलाफ यह अभी तक का सबसे बड़ा और व्यापक ऑपरेशन होगा। पुलिस मुख्यालय ने इस बाबत आदेश जारी कर दिया है। शराबंबदी को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की समीक्षा बैठक के बाद से ही बड़े ऑपरेशन की रणनीति तैयार की जा रही थी।

इन सभी अफसरों को सौंपी गई अलग-अलग रेंज की मॉनिटरिंग की जिम्मेवारी
इसके तहत सीआईडी के एडीजी जितेन्द्र कुमार को केन्द्रीय क्षेत्र (सेंट्रल रेंज) की मॉनिटरिंग की जिम्मेवारी सौंपी गई है। एडीजी रेल, निर्मल कुमार आजाद को मगध क्षेत्र, एडीजी (ऑपरेशन) सुशील मानसिंह खोपड़े को शाहाबाद क्षेत्र की मॉनिटरिंग की जिम्मेवारी सौंपी गई है। आतंकवाद निरोधक दस्ता(एटीएस) के एडीजी एस.रविन्द्रण को तिरहुत क्षेत्र, एडीजी (ट्रेनिंग) आर.मलार विझि को चंपारण क्षेत्र, एडीजी स्पेशल ब्रांच सुनील कुमार को सारण क्षेत्र, एडीजी एससीआरबी एवं आधुनिकीकरण डॉ.कमल किशोर सिंह को पूर्णिया क्षेत्र की कमान सौंपी गई है।

वहीं एडीजी (बजट, अपील एवं कल्याण) पारसनाथ को मुंगेर क्षेत्र, एडीजी(कमजोर वर्ग) अनिल किशोर यादव को बेगूसराय क्षेत्र और एडीजी(सुरक्षा) बच्चू सिंह मीणा को मिथिला क्षेत्र की मॉनिटरिंग की जिम्मेवारी सौंपी गई है। इसके अलावा आईजी आधुनिकीकरण के.एस.अनुपम को पूर्वी क्षेत्र भागलपुर और बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस के आईजी एम.आर.नायक को कोशी क्षेत्र की मॉनिटरिंग की जिम्मेवारी सौंपी गई है। पुलिस मुख्यालय के आदेश के अनुसार ये सभी पदाधिकारी मद्य निषेध के लिए अगल-अलग रेंज के विभिन्न जिलों में की जा रही कार्रवाई की मॉनिटरिंग करेंगे।

पहली बार मुख्यालय में तैनात बड़े अफसरों को शराबबंदी के लिए फील्ड में उतारा गया

  • शराब के खिलाफ किसी भी ऑपरेशन में अभी तक मुख्यालय में तैनात एडीजी और आईजी स्तर के एक दर्जन अफसरों को फील्ड में नहीं उतारा गया था। पुलिस मुख्यालय में मद्य निषेध के आईजी यह पूरा काम देख रहे थे। अब एडीजी स्तर के अफसरों को भी मॉनिटरिंग में लगा दिया गया है।
  • शराब के खिलाफ जिन एक दर्जन आईपीएस अफसरों को इस ऑपरेशन में लगाया गया है उन्हें आवंटित रेंज में जाकर शराबबंदी कानून को सख्ती से लागू कराना है। इन अफसरों को हर महीने जिलों का दौरा कर की जा रही कार्रवाई के संबंध में अपनी टिप्पणी हर महीने डीजीपी को सौंपनी है।