तीन शराब माफियाओं के संपत्ति की पड़ताल शुरू ::ED ने दर्ज की PMLA एक्ट के तहत ECIR, निशाने पर कई माफिया

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो

बिहार में शराब की तस्करी करने वाले तीन माफियाओं के खिलाफ ED (प्रवर्तन निदेशालय) ने अपनी पड़ताल शुरू कर दी है। अवैध तरीके से अर्जित की गई संपत्तियों खंगालने में जुट गई है। शुरुआती तौर पर तीन माफियाओं के नाम सामने आए हैं। जिसमें बेगूसराय के गंगा राम, गोपालगंज जिले के फुलवरिया का बसंत सिंह और समस्तीपुर का वीडियो राय शामिल है। इन तीनों के खिलाफ ED ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग के तहत ECIR (इनर्फोशमेंट केस इंफॉरमेशन रिपोर्ट) दर्ज कर लिया है।

अब ED की टीम इनकी कुंडली खंगाल रही है। दरअसल, मद्य निषेद्य इकाई की टीम ने बिहार के तमाम जिलों में शराब की तस्करी करने वाले माफियाओं की एक लिस्ट तैयार की थी। उस लिस्ट में 21 उन शराब माफियाओं के नाम शामिल थे, जिन्होंने कानून का उल्लंघन तो किया है। साथ ही अवैध तरीके से शराब की सप्लाई कर आर्थिक तौर पर बड़ी कमाई की। अवैध तरीके से संपत्ति अर्जित की। माफियाओं के लिस्ट को मद्य निषेद्य इकाई की ने आर्थिक अपराध इकाई को भेजा। फिर यहां से प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग के तहत कार्रवाई करने का प्रपोजल ED को भेजा गया था।

इस प्रपोजल के आधार पर ही ED की टीम ने अपने लेवल पर रिसर्च किया। काफी सारी जानकारियां जुटाई। फिलहाल 21 में से 3 माफियाओं के खिलाफ ECIR दर्ज किया। जांच पूरी कर इनके अवैध संपत्ति को जब्त करने की कार्रवाई भी होगी। हालांकि, इनके निशाने पर लिस्ट में शामिल बाकी के माफिया भी हैं। जिनके बारे में जानकारियां ED की टीम अपने स्तर पर जुटा रही है।

खबरें और भी हैं...