सुमन ने बताया कैसे पूजा ने पति को किया मालामाल:CA के घर में मिले कैश IAS के, काली कमाई से बना पल्स हॉस्पिटल

पटना/ रांची6 महीने पहले

IAS पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा के CA सुमन सिंह ने ED के सामने कई बड़े राज उगले हैं। ED ने माना है कि CA के बयान के आधार पर ही पूजा सिंघल की गिरफ्तारी हुई है। पूछताछ में हर दिन कई चौंकाने वाले फैक्ट सामने आ रहे हैं।

CA ने यह बात स्वीकार की है कि उनके घर से बरामद अधिकांश राशि पूजा सिंघल की ही है। जो उनके आदेश पर जमा की गई थी। ED अब इस बात की जांच कर रही है कि पूजा सिंघल ने अपने पति अभिषेक झा के पल्स अस्पताल के निर्माण में अवैध तरीके से अर्जित संपत्ति का निवेश तो नहीं किया है। पल्स अस्पताल के कंस्ट्रक्शन में 40 करोड़ रुपये की लागत आई है। अस्पताल में 30 करोड़ रुपये से अधिक का उपकरण लगा हुआ है। जमीन की कीमत का आकलन अभी नहीं किया जा सका है।

CA सुमन (फाइल फोटो)।
CA सुमन (फाइल फोटो)।

जमीन खरीदने से कंस्ट्रक्शन तक में नकद लेनदेन

पूजा सिंघल के निर्देश पर ही आरोपी ने पूजा सिंघल और उसके परिवार के स्वामित्व वाले पल्स अस्पताल के लिए जमीन खरीदने के लिए एक प्रसिद्ध बिल्डर को 3 करोड़ रुपये नकद में दिए। बयान के आधार पर कहा जा सकता है कि काली कमाई की बड़ी राशि पल्स अस्पताल के निर्माण और प्रबंधन में लगाया गया है। पूजा की ओर से आरोपी के माध्यम से विभिन्न उच्च मूल्य के नकद लेनदेन किए गए थे।

CA के मोबाइल से कई आपत्तिजनक सामग्री बरामद

सुमन कुमार के मोबाइल से ED को कई आपत्तिजनक सामग्री भी मिले हैं। आरोपी के कार्यालय सर्वर से महत्वपूर्ण डेटा बरामद किया जा रहा है। अवैध राशि का पता लगाने की कोशिश की भी जा रही है। ईडी उस बिल्डर को खोज रही है जिसके माध्यम से पल्स अस्पताल की जमीन खरीदी गई थी। इसके साथ ही घर में जब्त नकदी के अन्य मालिकों की पहचान पर ED काम कर रही है। उनसे भी पूछताछ की जाएगी।

IAS पूजा सिंघल फिलहाल ED की कस्टडी में हैं।
IAS पूजा सिंघल फिलहाल ED की कस्टडी में हैं।

सरावगी बिल्डर्स के ठिकानों पर ED ने की छापेमारी

वहीं ED की पूछताछ में सरावगी बिल्डर्स और पूजा सिंघल के कनेक्शन भी सामने आए हैं। ईडी की पांच सदस्यीय टीम ने सरावगी बिल्डर्स प्राइवेट लिमिटेड के ठिकाने पर छापेमारी की। गुरुवार को लगभग 7 घंटे तक चली छापेमारी के दौरान ईडी ने बिल्डर आलोक सरावगी से पूछताछ की। वहीं उनके पिता गणेश सरावगी का भी बयान दर्ज करना चाहा, पर तबीयत खराब होने के कारण पूछताछ नहीं हो पायी। ED सूत्रों के मुताबिक, आलोक सरावगी के यहां छापेमारी के दौरान कई महत्वपूर्ण कागजात, बैंक खातों की डिटेल्स और निवेश संबंधी कागजात जब्त किए गए हैं।