पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दुखद:एनआईटी से पास इंजीनियर की बड़ाैदा में संदिग्ध स्थिति में माैत, हत्या की आशंका

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक सूरज कुमार का फाइल फोटो।
  • एक साल पहले एल एंड टी में हुआ था सेलेक्शन, दीघा में रहता है परिवार, पिता ऑटाे चालक

एनआईटी पटना से पास आउट मैकेनिकल इंजीनियर सूरज कुमार की बड़ाैदा में संदिग्ध परिस्थिति में माैत हाे गई। 23 साल के सूरज का पिछले साल ही एल एंड टी कंपनी में सेलेक्शन हुआ था। वह बड़ाैदा में पाेस्टेड था। परिजनाें ने उसके हत्या की आशंका जताते हुए बिहार सरकार से मामले की जांच कराने की मांग की है। सूरज का परिवार दीघर के पाेल्सन में रहता है।

बुधवार की रात 10 बजे सूरज के पिता उदय शंकर पंडित, मां व बड़ी बहन माधुरी से वीडियाे काॅलिंग से बात हुई। वह बिल्कुल स्वस्थ था। माधुरी ने बताया कि गुरुवार की सुबह काे कंपनी के एचआर ने परिजनाें काे फाेन कर बताया, उसकी माैत हाे गई है। सूरज के पिता ऑटाेचालक हैं। वह दाे भाइयाें में बड़ा था। छाेटा भाई आकाश पढ़ाई करता है। उसकी इकलाैती बड़ी बहन माधुरी है।
पिता, मां व भाई विमान से गए शव लाने, एक-दाे दिनों में आएगा बाॅडी
माधुरी ने बताया कि गुरुवार की शाम काे मां, पिता व भाई तीनाें विमान से अहमदाबाद गए हैं। वहां से रात 11 बजे बड़ाैदा पहुंचे हैं। माधुरी के अनुसार सूरज के नाक व मुंह से ब्लड आ रहा था। उसे काेई बीमारी नहीं थीं। वह बिल्कुल ठीक था ताे फिर उसकी माैत कैसे हाे गई। शुक्रवार काे उसके शव का पाेस्टमार्टम हाे गया है। एक-दाे दिनाें में उसका शव पटना पहुंचेगा। माधुरी ने बताया कि फतुहा में सूरज का अंतिम संस्कार किया जाएगा।
मार्च में 15 दिनों के लिए आया था घर, छठ में फिर आने को कहा था
माधुरी ने बताया कि सूरज मार्च के पहले सप्ताह में घर आया था। करीब 10-15 दिन रहने के बाद पहला लाॅकडाउन लगने से पहले ही बड़ाैदा चला गया। उसने छठ में पटना आने के लिए कहा था। उसने विमान का टिकट भी ले लिया था, पर इस बीच उसकी माैत की खबर आ गई। माधुरी ने कहा कि परिवार का सब कुछ चला गया। वही परिवार चलाता था। अब क्या हाेगा, भगवान काे ही मालूम।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें