पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत की बात:हर गरीब को मिलेगा काम व भोजन, सभी जिलों में सामुदायिक किचन का सुचारू संचालन हो- सीएम

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • नीतीश ने लॉकडाउन के बीच रोजगार और खाने-पीने के सरकारी इंतजाम की समीक्षा की

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना को नियंत्रित करने के लिए लॉकडाउन लगा है। इस दौरान इच्छुक सभी लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए तत्परता से काम हो। सबको रोजगार मिले, यह सुनिश्चित करना है। जिलों में सामुदायिक किचन ठीक से चले। वे गुरुवार को ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन एवं सामुदायिक किचन की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछली बार भी लॉकडाउन के दौरान बाहर से आए हुए लोगों के साथ यहां के भी इच्छुक लोगों के लिए मनरेगा के माध्यम से रोजगार सृजित किए गए थे।

इस बार भी ऐसा हो। ग्रामीण इलाकों के साथ शहरी क्षेत्रों में गरीब लोगों को काम मिले, ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा न हो। श्रमिकों को समय पर पारिश्रमिक मिले। 7 निश्चय पार्ट 2 के तहत चलायी गई योजनाओं को मंजूरी दी गई है। जल-जीवन-हरियाली अभियान के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों के साथ अन्य कई सरकारी योजनाओं के तहत निर्माण कार्य भी चलाए जा रहे हैं। इन सभी में अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध कराया जाए। माइकिंग से गांव-गांव तक रोजगार की उपलब्धता की जानकारी दी जाए।

सभी जिलों में सामुदायिक किचन का सुचारू संचालन हो- नीतीश

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलों में गरीब, निर्धन एवं असहायों के लिए सामुदायिक किचन का सुचारु रुप से संचालन हो। किसी को कोई असुविधा न हो। ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव ने मनरेगा व रोजगार की कार्ययोजना, नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर ने शहरी क्षेत्रों में रोजगार के उपाय व आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ने सामुदायिक किचन के बारे में जानकारी दी। सभी जिलों के उपविकास आयुक्त वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे। औरंगाबाद एवं किशनगंज के उपविकास आयुक्त ने रोजगार सृजन व सामुदायिक किचन के बारे में बताया।

खबरें और भी हैं...