फरार यूट्यूबर मनीष कश्यप पर दर्ज होगी तीसरी FIR:ट्विटर अकाउंट से अपनी गिरफ्तारी की पुरानी तस्वीर शेयर किया, जांच के बाद कार्रवाई में जुटी EOU

पटना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

तमिलनाडु में बिहार के लोगों की पिटाई का फेक वीडियो वायरल करने के मामले में गिरफ्तारी के डर से फरार यूट्यूबर मनीष कश्यप ने एक और फर्जीवाड़ा कर दिया है। बिहार पुलिस मुख्यालय ने रविवार को दावा किया है कि फरार मनीष कश्यप ने अपनी गिरफ्तारी की गलत तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। उसने अपने नाम से एक नया ट्विटर अकाउंट बनाया है। इस नए अकाउंट से ही उसने गिरफ्तारी का फोटो शेयर किया। वो लोगों को बता रहा है कि उसे बिहार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

2019 की है तस्वीर

असलियत ये है कि वो अब भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। वो लगातार फरार चल रहा है। गिरफ्तारी से बचने के लिए उसने बिहार तक को छोड़ दिया है। पुलिस मुख्यालय ने रविवार को आधिकारिक बयान जारी कर कहा है कि मनीष कश्यप ने अपनी गिरफ्तारी की जो तस्वीर सोशल मीडिया पर अपलोड की है। वो पुरानी है, 5 फरवरी 2019 की है। उस वक्त पटना के कोतवाली थाने की पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था।

EOU कर रही जांच

अब इस मामले में आर्थिक अपराध इकाई (EOU) ने जांच की है। अब मनीष कश्यप के उपर इस मामले में नई और तीसरी FIR दर्ज होने जा रही है। इसकी पुष्टि पुलिस मुख्यालय ने अपने आधिकारिक बयान में की है। EOU के अनुसार ट्विटर पर मनीष कश्यप का ऑफिशियल अकाउंट 11 मार्च से डिएक्टिवेट है। इस कारण उसने अपना नया अकाउंट बनाया है।

दो राज्यों की पुलिस सच जानने में जुटी

जब से तमिलनाडु का प्रकरण सामने आया है। इसके बाद से दोनों राज्यों की पुलिस जांच में जुटी है। तमिलनाडु की पुलिस ने अपने यहां कुल 13 FIR दर्ज किए हैं। हर केस में जांच चल रही है। वहीं, बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई ने पहले से दो अलग-अलग FIR दर्ज कर रखा है। इन दोनों ही केस में मनीष कश्यप नामजद हैं। एक FIR नंबर 3/23 और दूसरा 4/23 है। इन दोनों ही केस में गिरफ्तारी के डर से मनीष कश्यप लगातार फरार चल रहा है।