बिहार में पहली बार महिला पुरोहित कराएंगी शादी:भाजपा MLC की बेटी है दुल्हन, उसी की डिमांड पर महाराष्ट्र से बुलाई गईं हैं दो पुरोहित

पटना2 महीने पहलेलेखक: शालिनी सिंह

पटना में आज एक अनोखी शादी हो रही है। बिहार में भाजपा के विधान परिषद सदस्य (MLC) संजय पासवान की बेटी प्रो. अदिति नारायणी की शादी कराने दो महिला पुरोहित महाराष्ट्र से पटना आई हैं। प्रो. अदिति नारायणी हैं। JNU की रिसर्च स्टूडेंट रहीं हैं। वह महिला सशक्तीकरण के विषयों पर काम करती रही हैं। यही वजह है कि अपनी शादी के जरिए भी उन्होंने सामाजिक जागृति लाने की कोशिश की है।

अदिति की शादी आज यानी 8 दिसंबर को होगी। इस शादी की खास बात ये भी है कि ये पूरी शादी दिन में होगी। आमतौर पर बिहार और यूपी जैसे हिन्दी भाषी राज्यों में शादियां रात में संपन्न होती है। अदिति के पिता संजय पासवान हैं, जो पूर्व केंद्रीय मंत्री हैं और वर्तमान में भाजपा के विधान पार्षद हैं। इस लिहाज से देखें तो अदिति की शादी एक VIP शादी है, लेकिन यहां असल आकर्षण तो महिला पुरोहितों द्वारा कराया जा रहा वैवाहिक अनुष्ठान है।

महाराष्ट्र से आई हैं 2 महिला पुरोहित
महाराष्ट्र के थाणे जिला की गौरी खुंटे और वृंदा दांडेकर, महिला पुरोहित हैं। ये दोनों पटना शादी का अनुष्ठान संपन्न कराने पहुंची हैं। गौरी खुंटे ने 25 साल पहले वेदों की पढ़ाई शुरू की थी। शुरुआत में घर के अनुष्ठानों को संपन्न कराया और फिर साल 2000 से घर के बाहर धार्मिक अनुष्ठान कराना शुरू कर दिया। बाहर पूजा कराने लगी तो धमकी भरे फोन आने लगे, लेकिन गौरी रुकी नहीं। गौरी को इस काम में उनकी मदद की उनके परिवार ने। इसके बाद वृंदा से उनकी मुलाकात हुई, फिर दोनों ने मिलकर न सिर्फ शादियां कराईं बल्कि और लड़कियां और महिलाओं को भी धार्मिक अनुष्ठान करना सिखाया। गौरी और वृंदा अब तक 6 शादी करा चुकी हैं।

दुल्हन ने परिवार के सामने रखी थी चाहत
महिला पुरोहित से शादी करवाने की चाहत अदिति की थी। उन्होंने पहले अपने परिवार और फिर ससुराल पक्ष के लोगों को इसके लिए तैयार किया। महिला पुरोहितों की खोज भी अदिति के लिए आसान नहीं थी। उन्हें वैदिक रीति से शादी कराने वाली महिला पुरोहित चाहिए थीं। अदिति कहती हैं कि- "पहले मैंने प. बंगाल के जाधवपुर यूनिवर्सिटी की महिला पुरोहितों से संपर्क किया। लेकिन, पता चला वो वैदिक रीति रिवाज से शादी नहीं करातीं तो फिर मैंने महाराष्ट्र की गौरी खुंटे से संपर्क किया और वह यहां आने के लिए मान गईं।"

खबरें और भी हैं...