कोरोना की मार:ट्रेन नहीं मिली तो गोरखपुर से पटरी पकड़ कर पैदल ही बगहा पहुंच गए पांच युवक, 16 घंटे में तय की 110 किमी की दूरी

बिहार2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पांचों युवक। - Dainik Bhaskar
पांचों युवक।
  • मालिक ने उन्हें घर जाने के लिए कहा, सवारी नहीं चलने के कारण वे गोरखपुर से रेल की पटरी पकड़ कर घर के लिए चल पड़े
  • पांचों की कोरोना संक्रमण की जांच अनुमंडलीय अस्पताल में हुई, किसी में कोरोना के लक्षण नहीं मिले

बगहा. गोरखपुर में मजदूरी करने वाले चनपटिया के पांच युवक सवारी की व्यवस्था नहीं होने पर रेल पटरी पकड़कर पैदल ही बगहा पहुंच गए। पांचों की कोरोना संक्रमण की जांच अनुमंडलीय अस्पताल में हुई। किसी में कोरोना के लक्षण नहीं मिले। इन्हें 14 दिनों तक घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत देकर छोड़ दिया गया। युवकों ने बताया कि कोरोना के चलते मंगलवार को कंपनी बंद कर दी गई। मालिक ने उन्हें घर जाने के लिए कहा। सवारी नहीं चलने के कारण वे गोरखपुर से रेल की पटरी पकड़ कर घर के लिए चल पड़े। 110 किलोमीटर की दूरी 16 घंटे में तय कर बुधवार को पूर्वाह्न 10 बजे बगहा पहुंचे। अब वे बगहा से चनपटिया तक की 60 किलोमीटर की दूरी भी पैदल ही तय करेंगे।

खबरें और भी हैं...