पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सुविधा:कोरोना मरीजों के लिए, राजेंद्रनगर नेत्र अस्पताल में 115 और ईएसआईसी बिहटा में अब 150 बेड

पटना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स - Dainik Bhaskar
पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स
  • पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में आज से 100 बेड, मेदांता में अभी लगेंगे 8 दिन

राजेंद्रनगर आई हॉस्पिटल में 115 बेड का अस्पताल कोविड मरीजों के इलाज के लिए शुरू हो गया है। इन 115 बेड में से 85 बेड ऑक्सीजेनेटेड हैं जबकि 30 सामान्य बेड हैं। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में सोमवार से 100 बेड का अस्पताल शुरू हो जाएगा। इसके लिए काम चल रहा है। जयप्रभा मेदांता अस्पताल में अभी कोविड मरीजों का इलाज शुरू होने में 8 दिन लगेंगे। यहां अभी काम ही चल रहा है। मेदांता की ओर से अस्पताल में मरीजों के लिए जरूरी चीजों की आपूर्ति की जा रही है।

सभी व्यवस्थाएं होने के बाद ही यहां अस्पताल शुरू हो पाएगा। उधर, पीएमसीएच में 1200 बेड पर काेराेना मरीजों के इलाज की व्यवस्था की जा रही है। इसकाे लेकर शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के साथ अस्पताल प्रबंधन की बैठक हुई थी। हालांकि अभी 100 बेड पर ही कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है। अस्पताल प्रबंधन के सामने सबसे बड़ी समस्या सभी बेडों पर ऑक्सीजन की उपलब्धता को सुगम बनाना है। प्राचार्य डॉ. विद्यापति चौधरी ने कहा कि सभी विभागों के हेड के साथ साेमवार काे बैठक होगी। इसके बाद जो निर्देश आएगा, उसपर अमल किया जाएगा। अधीक्षक डॉ. आईएस ठाकुर ने कहा कि हमने बेड बढ़ाने के लेकर वर्कआउट भी किया है। यहां कोविड और नाॅन-कोविड दोनाें मरीजों का इलाज किया जा रहा है। बैठक के बाद प्रधान सचिव का जो आदेश होगा, उसपर अमल किया जाएगा।

125 वेंटिलेटर-आईसीयू के लिए एनेस्थेटिक का हो रहा इंतजार

बिहटा-पटना हाईकोर्ट ने बिहटा स्थित ईएसआईसी अस्पताल में सोमवार से ऑक्सीजन की सुविधा के साथ 150 बेड पर इलाज सुनिश्चित कराने को कहा था, लेकिन शनिवार को ही यह संख्या पूरी करा दी गई। दैनिक भास्कर ने 24 अप्रैल को इस अस्पताल को लेकर दो सवाल उठाए थे, पहला- 500 बेड के अस्पताल में 50 पर ही इलाज क्यों? और दूसरा- 125 वेंटिलेटर बेकार क्यों? दूसरा सवाल अब भी कायम है। एनेस्थेसिया विशेषज्ञ नहीं होने के कारण वेंटिलेटर सुविधा वाली आईसीयू तैयार होकर भी उपयोग लायक नहीं है। अस्पताल में कुल 500 बेड हैं। वेंटिलेटर सुविधा वाले 125 बेड आईसीयू और शेष 375 ऑक्सीजन सुविधा वाले सामान्य बेड। जिस तरह डॉक्टरों और पारा मेडिकल कर्मियों की कमी के कारण 375 बेड में से अबतक 150 बेड ही शुरू हो सके हैं, उससे भी खराब हालत आईसीयू की है। आईसीयू में वेंटिलेटर ऑपरेशन के लिए एनेस्थिसिया के विशेषज्ञ की जरूरत है।

आईजीआईएमएस

अभी 150 बेड पर ही कोरोना मरीज की भर्ती

आईजीआईएमएस को काेराेना डेडिकेटेड अस्पताल बना दिया गया है। लेकिन, तीन दिन बाद भी पहले से उपलब्ध बेड के अलावा महज 36 बेड ही बढ़े हैं। 30 ऑक्सीजन सपोर्टेड और 6 आईसीयू बेड। अब यहां 50 आईसीयू व एचडीयू बेड और 100 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड हो गए हैं। इस तरह फिलहाल 150 बेड पर कोराेना मरीजाें का इलाज हो रहा है। सभी बेड फुल हैं। सभी विभागों के ओपीडी, सर्जरी आदि बंद कर दिए गए हैं। पहले से भर्ती सामान्य मरीज जैसे-जैसे ठीक होने के बाद डिस्चार्ज होते जाएंगे, उसी हिसाब से काेराेना मरीजाें के लिए बेड की संख्या बढ़ती जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें