पटना में कूड़े ढेर पर फेंका मिला 131 खोखा:PNT कॉलोनी में सफाई कर्मियों को पॉलिथीन में मिला खोखा, राइफल, SLR और पिस्टल की है गोलियां

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कूड़े के ढेर पर पॉलिथिन में मिला खोखा। - Dainik Bhaskar
कूड़े के ढेर पर पॉलिथिन में मिला खोखा।

पटना में मंगलवार को कूड़े की ढ़ेर पर गोलियों का खोखा मिला। इससे इलाके में सनसनी मच गई। वजह यह थी कि गोलियों का एक-दो खोखा नहीं बल्कि पूरे 131 पीस खोखा बरामद किए गए। जो एक गंदे से पॉलिथीन में पैक था। जब पॉलिथीन को खोला गया तो उसमें रखे खोखा की गिनती की गई। हर एक खोखा की पहचान की गई कि वो किस हथियार का है। पुलिस के अनुसार 35 पीस राइफल, 30 पीस SLR, 59 पीस पिस्टल, 6 पीस छर्रा और 1 पीस मिस फायर की गई गोली का खोखा मिला है।

कूड़े के ढेर पर पॉलिथिन में मिला खोखा।
कूड़े के ढेर पर पॉलिथिन में मिला खोखा।

मामला पटना के PNT कॉलोनी का है। कॉलोनी में एक नाला के पास कूड़ा जमा था। सुबह के वक्त पटना नगर निगम का एक सफाई स्टाफ वहां सफाई करने पहुंचे थे। सफाई करने के क्रम में ही पॉलिथीन में पैक गोलियों के खोखा पर उसकी नजर पड़ी। मामले की गंभीरता को देख सफाई स्टाफ कोतवाली थानेदार व इंस्पेक्टर सुनील कुमार सिंह को कॉल किया। उन्हें पूरी बात बताई। फिर थानेदार के आदेश पर उस एरिया में मूव कर रहे थाना के पेट्रोलिंग कर रही नंबर 5 की गाड़ी को भेजा गया।

एक हफ्ते से ज्यादा पुराना खोखा
सूचना पर पेट्रोलिंग टीम को लीड कर रहे सब इंस्पेक्टर अनिल प्रसाद टीम के साथ मौके पर पहुंचे। फेंका हुआ खोखा को जब्त किया। फिर मामले की जांच की। शुरुआती जांच में यह पता चला है कि जितने भी खोखा बरामद किए गए है, वो सभी 5-6 दिनों से अधिक पुराने हैं। सब इंस्पेक्टर अनिल प्रसाद ने बताया कि फायरिंग के बाद भी खोखा में 4-5 दिनों तक बारूद की महक होती है। मगर, आज जितने भी खोखा बरामद किए गए है, उसमें ऐसा नहीं था।

कब और कहां हुई फायरिंग पता लगाने में जुटी पुलिस

जांच में एक बात और स्पष्ट हुई है कि बरामद खोखा लाइसेंसी हथियारों का है। अब यह पता लगाया जा रहा है कि पॉलिथीन में पैक कर वहां किसने फेंका? इतने बड़े पैमाने पर फायरिंग कब और कहां हुई थी? इस मामले में आगे की कार्रवाई क्या होगी? क्या कोई FIR दर्ज होगी? इस बारे में पटना पुलिस के सीनियर अधिकारियों से निर्देश मिलने के बाद ही कोतवाली थाना की पुलिस अपने कदम आगे बढ़ाएगी।