• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Full Chances Of Uproar; Opposition Will Try To Bring A Resolution Against Agneepath, There Will Be Noise On Flood crime

'अग्निपथ' की भेंट चढ़ा मानसून सत्र का दूसरा दिन:विधान सभा की कार्यवाही मंगलवार सुबह 11 बजे तक स्थगित, विपक्ष  योजना वापसी पर अड़ा

पटना5 महीने पहले

बिहार विधान सभा के मॉनसून सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही 'अग्निपथ' पर हंगामे की भेंट चढ़ गई। सुबह 11 बजे कार्यवाही शुरू होते ही विधान सभा में विपक्ष के विधायक बेल में आकर नारेबाजी करने लगे। सदन की कार्यवाही नहीं चलने दी। विपक्ष के विधायक किसी को बोलने नहीं दे रहे थे। हंगामे को देखते हुए स्पीकर ने विधानसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

दोपहर बाद 2 बजे भी सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा करना शुरू कर दिया। इसके बाद एक बार फिर इसे 2:45 तक के लिए स्थगित कर दिया गया। आखिर 2:45 बजे जब कार्यवाही शुरू हुई तो सदन को मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

सदन के बाहर भी प्रदर्शन

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में वाम दल के विधायकों ने सदन की कार्रवाई के पहले जमकर हंगामा किया। नारेबाजी करते हुए विधानसभा से अग्निपथ योजना के विरोध में एक सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित करने की मांग की है। वही वाम दल के विधायकों ने आरोप लगाया कि इस योजना को हड़बड़ी में लाकर केंद्र ने युवाओं को ठगने का काम किया है। कई युवाओं को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया है। उन्हें जल्द-से-जल्द रिहा किया जाए। जब तक युवाओं की रिहाई नहीं होगी, तब तक हम सभी का आंदोलन जारी रहेगा।

सदन के बाहर प्रदर्शन करते माले विधायक।
सदन के बाहर प्रदर्शन करते माले विधायक।

पहले दिन हुआ था सदन के बाहर हंगामा

शुक्रवार को जब विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई थी तो विपक्ष ने मानसून सत्र के पहले ही दिन अपने तेवर दिखा दिए थे। अग्निपथ योजना को लेकर विपक्ष का प्रदर्शन देखने को मिला था, लेकिन शुक्रवार को विधानसभा की कार्यवाही सदन में दिवंगत नेताओं को शोक संवेदना व्यक्त किए जाने के बाद आज 11 बजे तक स्थगित कर दी गई थी।

विधान परिषद में भी छाया रहा 'अग्निपथ'

सुबह विधान परिषद् के पोर्टिकों में भी विपक्ष ने हंगामा और नारेबाजी की। राबड़ी देवी के नेतृत्व में विपक्ष के विधान पार्षद 'अग्निवीर' योजना वापस लेने की मांग करते रहे। उन्होंने सदन में कार्य स्थगन प्रस्ताव लाने की घोषणा की।

राजद विधान पार्षद रामबली चन्द्रवंशी ने अग्निपथ योजना को वापस लेने और प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार छात्रों को छोड़ने के अलावा केस वापस लेने का सदन में कार्य स्थगन प्रस्ताव लाया। इसका समर्थन करते हुए राजद के रामचन्द्र पूर्वे ने अग्निपथ योजना को वापस लेने की बात कही। सत्ता पक्ष इसका विरोध करता रहा।

इस दौरान विधान परिषद के कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह ने कार्य स्थगन प्रस्ताव को खारिज किया। विपक्ष हंगामा करता रहा। बाद में प्रस्ताव को विधान परिषद कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में रखने के आदेश देने के बाद विपक्ष शांत हुआ।

आज क्या कुछ होना है

विधानसभा की कार्यवाही प्रश्नोत्तर काल के साथ शुरू होगी। सदन में अल्प सूचित और तारांकित प्रश्न पर सरकार का जवाब आएगा। आज विधानसभा में 2 ध्यानाकर्षण सूचनाओं पर भी सरकार का जवाब आना है। पहली ध्यानाकर्षण सूचना स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी हुई है।

बीजेपी विधायक के संजय सरावगी, कुमार शैलेंद्र समेत अन्य सदस्यों की तरफ से यह ध्यानाकर्षण सूचना लाई गई है, जबकि दूसरी ध्यानाकर्षण सूचना कृषि विभाग से जुड़ी होगी। इस सूचना को आरजेडी के विधायक सुधाकर सिंह, फते बहादुर सिंह, राजेश कुमार गुप्ता की तरफ से लाया गया है। सदन में आज समितियों की रिपोर्ट रखी जाएगी।

विधानसभा में आज एक विधेयक भी सरकार की तरफ से रखा जाएगा। आज बिहार छोआ नियंत्रण संशोधन विधेयक 2022 को पेश किया जाएगा। केंद्र सरकार की तरफ से सेना बहाली को लेकर लाई गई अग्निपथ योजना को लेकर आज विधानसभा में अंदर और बाहर दोनों जगह पर हंगामा देखने को मिल सकता है। विपक्षी दल इस मसले पर सदन में चर्चा और प्रस्ताव पारित किए जाने की मांग कर सकते हैं।