माेबाइल का डंप डेटा खंगालने पटना पुलिस पहुंची औरंगाबाद:राजस्थान-यूपी के गिराेह ने उखाड़ी फुलवारी से एटीएम, लाइनर स्थानीय

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फुलवारीशरीफ से एचडीएफसी की एटीएम उखाड़कर उसमें रखे 21 लाख 10 हजार 600 रुपए लेकर फरार हाेने मामले की जांच करने के लिए पटना पुलिस की टीम औरंगाबाद के दाउदनगर पहुंच गई है। दाउदनगर के जमुअावां गांव स्थित नहर से पुलिस ने क्षतिग्रस्त एटीएम काे बरामद किया था।

पुलिस ने नहर के अासपास लगे माेबाइल टावर से डंप डाटा खंगालना शुरू कर दिया है। सूत्राें के अनुसार, डंप डाटा से पुलिस यह देख रही है कि उस वक्त काैन-काैन से माेबाइल एक्टिव थे। इधर, क्षतिग्रस्त एटीएम काे लेकर फुलवारीशरीफ थाना की पुलिस देर रात पहुंच गई। सूत्राें के अनुसार, फुलवारीशरीफ के स्थानीय शातिराें ने लाइनर का काम किया।

इस मामले में पुलिस ने एटीएम उखाड़ने के मामले में जेल गए यूपी में रह रहे फुलवारी के एक संदिग्ध काे बुलाया है। उससे पुलिस पूछताछ करने में जुटी है। पुलिस ने उसे वह फाेटाे भी दिखाया जाे सीसीटीवी में कैद हुआ है। फुलवारीशरीफ का एक और शातिर एटीएम उखाड़ने में फिलहाल रिमांड हाेम में है।

पुलिस उससे भी पूछताछ करेगी। जांच में जुटी पुलिस का कहना है कि इस घटना के पीछे औरंगाबाद, राजस्थान और यूपी का गिराेह है। यह गिराेह पहले भी पटना में एटीएम काट कर वारदात काे अंजाम दे चुका है। पुलिस के लिए परेशानी यह है कि कहीं भी उस स्काॅर्पियाे का नंबर नहीं मिला है।

दाेनाें सैप जवानाें की सेवा नहीं ली जाएगी : एएसपी
घटना के वक्त दाे सैप जवान वहीं पर गश्ती कर रहे थे। सैप जवानाें लाल मोहन पासवान और ललनकांत झा ने लुटेराें काे स्काॅर्पियाे से ले जाते देखा। दाेनाें के पास एसएलअार था पर हवाई फायरिंग तक नहीं की। फुलारीशरीफ एएसपी मनीष कुमार ने बताया कि दाेनाें जवानाें की लापरवाही है। दाेनाें की सेवा नहीं जाएगी। इसके लिए वरीय अधिकारियाें काे अनुशंसा कर दी गई है।

खबरें और भी हैं...